अहिंसा के पुजारीकी हत्त्या का मकसद क्या

0
31

हाल हिमे करनाटक मे, चिक्कोडी तहसिल के पास एक तिर्थ क्षेत्र के दिगम्बर जैन मुनी, संस्कृत, प्राकृत,कन्नड, हिन्दी भाषा के विद्वान, ” काम कुमार नंदी: महाराजजी की जघन्य हत्त्या,गुन्डो ने की अत्यंत,दुखद, एव्ंचिंता का विषय है,
दिगम्बर जैन मुनी एक टाईम ही आहार लेतेहै,एक बार ही जल लेते है,सतत अध्ययन,चिंतन, एव्ं भक्तो को  ” सत्य, शांती, अहिंसा, ,” का पाठ  सिखाते है! काम कुमार नंदी जी महाराज जी अपने. ध्यान मुद्रा मे , थे फिर गुन्डोने लाइट के करंट  से, बाद मे देह के छिन्ं, भिन्न्ं, अंग कर दिये एक सत्य, शांती, अहिंसा की मुर्ती की हत्या का प्रयोजन क्या है!
यह रास्ट्र और राज्य के लिये कलंक है जैन समाज पर वज्राघात है, अपराधीयोको कडी सजा हो
9423150116

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here