जिन्दगी से निराश रोगियों का बिना दवा से एक्यूप्रेशर चिकित्सा पद्धति से अचूक इलाज 94 वर्षीय सुवालाल बड़जात्या के नेतृत्व में टीम द्वारा एक्यूप्रेशर सेवाये

0
75
सीकर 13 जुलाई 2023 सीकर के डोलियों के पास स्थित वर्ष 1998 में स्थापित जीवन सुधा जैन डिस्पेंसरी अपना रजत जयंती वर्ष मना रहा है। स्वर्गीय प्रताप मल विनायक्या की धर्मपत्नी झुमरी देवी एवं सूरत प्रवासी उनके सुपुत्रों ने सीकर के मध्य स्थित डोलियों के बास में एक विशाल भवन चिकित्सा सेवाओं के संचालन हेतु संचालक संस्था जैन मित्र मण्डल को प्रदान किया। संस्था के सुचारू संचालन हेतु 25 वर्षों से उनके पुत्रों द्वारा आर्थिक सहयोग भी प्रतिमाह भेजा जा रहा है।
संस्थापक चिकित्सक सुवालाल बड़जात्या जो घर पर ही बिना दवा एक्यूप्रेशर पद्धति से रोगियों का नि:शुल्क इलाज करते थे उनकी भावनाओं को देखते हुए विनायक्या परिवार ने जैन मुनि सुधासागर जी के आशीर्वाद से इस संस्थान की स्थापना करवाई।
साईटिका,पेरेलेसिस,गठिया बाय,स्त्री रोग,मधुमेह,हडडीयो सम्बन्धी रोग, सहित सभी रोगों का अचूक ईलाज वयोवृद्ध एक्यूप्रेशर चिकित्सक सुवालाल बड़जात्या व उनकी टीम द्वारा डिस्पेंसरी में किया जा रहा है। सैकड़ो ऐसे निराश रोगी जो ऐलोपेथी चिकित्सा में लाखों रुपये खर्च करके भी ठीक नहीं हुये उन्हें सुवालाल बड़‌जात्या ने अपनी अगुलियों के कमाल से एक्यूप्रेशर पद्धति द्वारा ठीक कर दिया हैं। डिस्पेन्सरी में होम्योपैथिक चिकित्सा सुविधा भी दी जा चुकी है एवं वर्तमान में एलोपैथिक प्राथमिक चिकित्सा उपलब्ध कराई जा रही है। विगत 25 वर्षों में 129 निःशुल्क चिकित्सा शिविर भी आयोजित किये गये। कोविड-19 के दौरान सात विशाल टीकाकरण शिविर भी लगाकर अनुकरणीय कार्य किया गया। परमार्थिक आधार पर संचालित डिस्पेन्सरी वयोवृद्ध चिकित्सक सुवालाल बड़जात्या के नेतृत्व में टीम द्वारा एक्यूप्रेशर सेवाये नि:शुल्क प्रदान की जा रही है संस्थान के संयोजक महेश बड़जात्या ने बताया कि नि:शुल्क चिकित्सा सुविधा हेतु बड़े स्तर पर कार्य योजना बनाई जा रही है।एक्यूप्रेशर चिकित्सक सुवालाल बड़जात्या ने बताया कि जीवन सुधा जैन डिस्पेंसरी मे 36 कोम का नि:शुल्क इलाज किया जाएगा रहा है।यहां और यहां आसपास के शहर गांव से लंबे समय से असाध्य रोग से पीड़ित लोग जो व्हील चेयर पर आते है और वापिस पैदल चलकर जाते हैं  प्रतिदिन 50 से 60 मरीजों का एक्यूप्रेशर पद्धति से इलाज किया जाता है। प्रियंक गंगवाल ने बताया कि वर्तमान में डिस्पेंसरी का संचालन  महेश बड़जात्या,कजोड़ मल छाबड़ा,मुकेश कुमार जैन,प्रदीप बाकलीवाल,सुनील दीवान,नरेश कालिका,अभिषेक सेठी संचालक सदस्यो एवं जैन मित्र मंडल के अध्यक्ष सुशील बड़जात्या,मंत्री निर्मल छाबड़ा एवं कोषाध्यक्ष संजय काला के निर्देशन में किया जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here