spot_img

1 दिसंबर 1895 से प्रकाशित जैन समाज का सर्वाधिक प्रसार संख्या वाला साप्ताहिक

Unit of Shri Bharatvarshiya Digamber Jain Mahasabha

spot_img
Home गतिविधियां

गतिविधियां

आचार्य श्री प्रसन्न सागर जी महाराज का बेंगलुरू प्रवास, आठ वर्षों बाद वापसी

0
तप के माध्यम से हम अपनी आत्मा को शुद्ध कर सकते हैं और परमात्मा की प्राप्ति कर सकते हैं। अन्तर्मना आचार्य श्री प्रसन्न सागर औरंगाबाद...

स्वर्गीय नेमीचंद जैन पांड्या धर्म परायण अब नहीं रहे

0
दिगंबर जैन खंडेलवाल सरावगी समाज नैनवा जिला बूंदी राजस्थान महावीर कुमार जैन सरावगी जैन गजट संवाददाता नैनवा जिला बूंदी राजस्थान स्वर्गीय नेमीचंद जैन पांड्या अब नहीं...

अमरावती में पहली बार गणाचार्य 42 जैन मुनियों एवं आर्यिका का संसघ आगमन हुआ

0
दिगंबर जैन राष्ट्रसंत आचार्य श्री 108 विरागसागरजी महाराज ससंघ का आज स्वागत हुआ अमरावती के इतिहास में पहली बार राष्ट्रसंत श्री 108 विरागसागरजी महाराज 42...

जयकारों के बीच आचार्यश्री ससंघ का मंगल प्रवेश

0
ग्रीष्मकालीन वाचना के लिए किशनगढ़ में ,आचार्यश्री सुनील सागर महाराज, जैन समाज के लोगों ने की अगवानी मदनगंज-किशनगढ़। आचार्यश्री सुनील सागर महाराज ससंघ ने ग्रीष्मकालीन वाचना...

संपूर्ण विश्व में जैन धर्म की अनोखी पहचान है जैन धर्म ही प्राणी मात्र...

0
प्रवचन केसरी विश्रांत सागर महाराज द्वारा जैन गजट संवाददाता महावीर सरावगी 17 मई शुक्रवार 2024 कुवरपुर मध्य प्रदेश के दिगंबर जैन जिलालय में जैन मुनि विश्रांत सागर...

चिंतनीय : धार्मिक आयोजनों में बढ़ता बोतल बंद पानी का चलन, पानी छानकर...

0
रात्रि भोजन त्याग, प्रतिदिन देवदर्शन और पानी छानकर पीना ये जैनी के चिह्न माने गए हैं। इस लेख में  हम पानी छानकर पीने की...

महिला जैन मिलन नेहानगर शाखा का शपथ ग्रहण समारोह संपन्न

0
सागर /- भारतीय जैन मिलन क्षेत्र क्रमांक 10  की महिला जैन मिलन नेहानगर शाखा का शपथ ग्रहण समारोह कार्यक्रम भारतीय जैन मिलन के राष्ट्रीय...

भारतीय जैन मिलन क्षेत्र संख्या-7 का 32 वां क्षेत्रीय अधिवेशन आयोजित

0
श्रेष्ठ कार्य करने वाली शाखाओं व सदस्यों को किया गया सम्मानित यमुनानगर, 16 मई (डा. आर. के. जैन): भारतीय जैन मिलन क्षेत्र संख्या-7 का 32 वां...

अपरिग्रह का महान आदर्श

0
जयपुर में जन्में पंडित सदासुखदास जी कासलीवाल 19वीं सदी में जैन दर्शन के प्रसिद्ध विद्वान हुए हैं। उन्होने जैन दर्शन के प्रसिद्ध संस्कृत ग्रंथ...

अभिनंदन भगवान का मोक्षकल्याणक तथा पावापुरी अहिंसा रथ यात्रा धुलियान में..

0
धुलियान मुर्शिदाबाद पश्चिम बंगाल.. श्री सम्मेद शिखर के आनंद कुट से मोक्ष प्राप्त करने वाले तीनलोक के नाथ अभिनंदन नाथ भगवान का गर्भ कल्याणक...

Latest Post