प्रीतिंकर दिवाकर इलाहाबाद उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश बनाए गए

0
99

जबलपुर/सिवनी/इलाहाबाद – संपूर्ण जैन समाज में आचार्य श्री शांति सागर जी महाराज का जीवन वृत्त चारित्र चक्रवर्ती लिखने वाले पंडित सुमेरूचंद्र जी दिवाकर सिवनी जैन समाज के गौरव रहे हैं उसी परिवार ने निरंतर जैन समाज को कई प्रतिभाएं प्रदान की हैं ,आपके परिवार के जबलपुर के प्रसिद्ध शिक्षाविद स्व .डॉ सुशील चंद दिवाकर के सुपुत्र, श्री सिद्धार्थ दिवाकर के अनुज, एडवोकेट राहुल दिवाकर के चाचा प्रीतिंकर दिवाकर को ष्ट्रपति भारत सरकार की अनुसंशा पर
इलाहाबाद हाई कोर्ट का मुख्य न्यायाधीश नियुक्त किया गया है।

आपके परिवार ने शैक्षिक, प्रशासनिक, न्यायिक, धार्मिक, आदि अनेकों क्षेत्रों में प्रतिभाओं को दिया है। आपके परिवार के श्री ऋषभ जी दिवाकर पुलिस महानिदेशक मध्यप्रदेश, एडवोकेट श्री अभिनंदन जी दिवाकर ,सुप्रशिद्ध अधिवक्ता सिवनी, पंडित श्री श्रेयांस कुमार जैन सिवनी,श्री यशोधर दिवाकर कार्यपालन यंत्री जल संसाधन ,श्री नरेश दिवाकर पूर्व विधायक व केबिनेट मंत्री दर्जा प्राप्त महाकोशल विकास प्राधिकरण जबलपुर के अध्यक्ष, प्रोफेसर डॉ इंद्रा जैन दमोह, प्रोफेसर श्री रविंद्र दिवाकर सिवनी आदि परिवारजनो का कार्य उल्लेखनीय हैं।

दिवाकर परिवार कीइस उपलब्धि पर बहुत बहुत शुभकामनाए। मेरा यह सौभाग्य रहा की दस लक्षण पर्व 2013 में मुझे सिवनी जैन समाज ने प्रवचन हेतु आमंत्रित किया था, इस दौरान मुझे दिवाकर परिवार की आत्मीयता व उनके साहित्य व परिवार के साथ लगातार 11 दिनों तक रहने का सौभाग्य मिला था। साथ ही एडवोकेट श्री अभिनंदन कुमार जी जिन्हें हम कक्का जी के नाम से जानते हैं जो 94 वर्ष की आयु में पूर्ण रूप से धार्मिक जीवन जी रहे हैं, उनका अपूर्व स्नेह व पंडित श्री श्रेयांस कुमारजी का असीम वात्सल्य सिवनी जैन समाज के प्रति गौरव कराता हैं। दिवाकर परिवार की इस उपलब्धि पर संपूर्ण जैन समाज गौरवान्वित है देश धर्म समाज के लिए हमारे समाज का योगदान हर क्षेत्र में उल्लेखनीय हैं।

राजेंद्र जैन महावीर
217 ,सोलंकी कॉलोनी सनावद 451111

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here