नैनवा में हजारों साल पुराने आठ जैन स्तंभ निकले उनमें तीर्थंकर की मूर्तियां अंकित है

0
27

महावीर सरावगी जैन गजट संवाददाता नैनवा
नैनवा जिला बूंदी 18 अप्रैल 2024 गुरुवार नैनवा का बड़ा तालाब कनक सागर विरासत समय से बना हुआ है
बड़े तालाब गणेश मंदिर पीछे रावण वध के स्थान पर झाड़ियां में मिट्टी में दबे हुए जैन स्तंभ को देखकर जैन समाज गोरावित हुआ
यु तो जैन विरासत देश के कोने कोने में है जहां पर भी प्राचीन प्रतिमा अवशेष निकलते हैं उन्हें समाज सरकार की मदद से तीर्थ स्थान घोषित हुए हैं
नैनवा कस्बे से 1 किलोमीटर दूर बड़ा तालाब गणेश मंदिर के पीछे बागरिया बाग के समीप भूमि पर कांटों में 8 निषिद्ध एक ही लाइन में बने हुए मिले
यह स्तंभ संवत 1000 से 1500 समय के इन्हें देखकर ऐसा आभास लगता है की बहुत ही पिढीयो के परिवार जनो ने जैन मुनि का समाधि की स्मृति में अलग-अलग काल में इन्हें बनवाए हैं
इन सभी स्तंभों पर जैन भगवान तीर्थंकर की मूर्तियां बनी हुई है
इन सब में बड़ा स्तंभ 8 फीट की ऊंचाई का भी है इसकी खोज ओमप्रकाश आकइयओलआ ने खोज कर हजार वर्ष पुरानी पुरातत्व अवशेष ढूंढ कर दिल्ली राजस्थान जिला बूंदी को भी अनमोल सौगाते दे दे चुके हैं
इससे पहले भी 2014 में इसी तरह के इस स्तंभ का पता झालरापाटन में भी एक पहाड़ी पर मिले वहां के स्थानीय जैन समाज ने पहाड़ी के उसे क्षेत्र को अपने अधिकार में ले लिया था यह स्वाति जैन हैदराबाद में जानकारी देते बताया
अब इस खोज के बाद यह जरूरी है कि जिला बूंदी व नैनवा का स्थानीय जैन समाज अपनी इस धरोवर को बचाने के लिए कितनी जल्दी आगे आकर प्रशासन से अपनी स्तंभो को सुरक्षित अपने कब्जे में लेकर उनको दर्शनीय स्थान बनाए

महावीर कुमार जैन सरावगी जैन गजट संवाददाता नैनवा जिला बूंदी राजस्थान

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here