मुनि श्री सुधासागर जी महाराज ससंघ के पिच्छि परिवर्तन में उमड़ा जन सैलाव

0
229
  • जैन साधुओं का संयम और करूणा का उपकरण मयूर पिच्छिका
  • योध्यापुरी में हुआ मुनि सुधासागर महाराज ससंघ का भव्य पिच्छिका परिवर्तन
  • मुनि श्री ने संयम व्रती श्रावकों को दी पुरानी पिच्छिका
  • गूंजे- जयजयकारे, आकर्षक प्रस्तुतियों के बीच हुआ पिच्छिका परिवर्तन

ललितपुर। निर्यापक श्रमण मुनि सुधासागर महाराज का ससंघ पिच्छिका परिवर्तन आज शाही पंचकल्याणक प्रतिष्ठा महोत्सव के लिए बनी अयोध्यापुरी के विशाल मण्डप में हुआ जिसमें संयमी श्रावकों ने हजारों श्रावकों की मौजूदगी में मुनिसंघ जैन मुनि के संयम के उपकरण मयूर पंख से बनी नवीन पिच्छि का प्रदान करने एवं पुरानी पिच्छिका ग्रहण करने का पुण्यार्जन किया। इस मौके पर मुनि सुधासागर महाराज ने मयूर पंख से बनी पिच्छिका को सूक्ष्म जीव की रक्षा का प्रतीक बताते हुए कहा पिच्छिका को प्राप्त करने और साधुओं को प्रदान करने का सौभाग्य संयमी व्यक्ति ही प्राप्त करते हैं, उन्होंने जीवन में संयम की उपयोगिता बताते हुए कहा साधुओं के सानिध्य में रहकर जीवन में संयम का धारण करने की भावना होनी चाहिए। संयमी व्यक्ति ही जीवन में आनंद की अनुभूति और सुख की प्राप्ति करता है।

ललितपुर से डॉ सुनील संचय ने बताया कि कार्यक्रम का शुभारम्भ आचार्य श्री विद्यासागर महाराज के चित्र अनावरण एवं दीपप्रज्जवलन कर प्रतिष्ठा महोत्सव के प्रमुख पात्रों व पंचायत पदाधिकारियों ने किया। मुनि सुधासागर महाराज के पादप्रक्षालन का पुण्यार्जन यज्ञनायक संदीप सराफ एवं मुनि पूज्यसागर महाराज के पादप्रक्षालन का पुण्यार्जन दर्शनादय तीर्थ थूबोनजी उपाध्यक्ष आनंद कुमार धर्मेन्द्र रोकड़िया चंदेरी ने किया। मंगलाचरण के रूप में ब्र. विमलेश दीदी ने गुरुवर की भक्ति की।

आचार्य श्रेष्ठ विद्यासागर महाराज के प्रभावक निर्यापक श्रमण मुनि सुधासागर महाराज एवं उनके संघस्थ मुनि नगर गौरव पूज्यसागर महाराज, ऐलक धैर्यसागर महाराज क्षुल्लक गम्भीर सागर महाराज के पिच्छिका परिवर्तन को बेहतर रोचक एवं धर्मप्रिय कार्यक्रमों को करने की संयोजना शैलेन्द्र जैन एवं विजय जैन धुर्रा अशोकनगर ने की। क्षुल्लक श्री की पिच्छिका को सम्मेद शिखर जी की झांकी में विमोचन हेतु लाए और उपस्थित जनसमुदाय को संदेश दिया कि पर्वतराज पर खानपान नहीं करेंगे और मोटरसाइकिल से नहीं ,पैदल जाएगे। पिच्छिका के लोकार्पण विमोचन के उपरान्त क्षुल्लक श्री की पुरानी पिच्छिका अशोक जैन जाखलौन को मिली । एलक श्री की पिच्छिका गुरु चरणों में आयी, विमोचन लोकार्पण के उपरान्त राजेश जैन सीमा जैन लागौन परिवार को मिली।

कार्यक्रम के दौरान बेटी बचाओ एवं सुसंस्कारों का शंखनाद लेकर लव जिहाद की प्रस्तुति की गई। मुनि पूज्यसागर महाराज की पिच्छिका अभिनंदनोदय तीर्थ पर निर्मित सहस्त्रकूट के प्रतीक के साथ लेकर वीर व्यायामशाला एवं आचार्य विद्यासागर व्यायामशाला के स्वयंसेवक अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन करते हुए आए ब्रह्मचारिणी वहिनों द्वारा विमोचन के उपरान्त पुरानी पिच्छिका ग्रहस्थ जीवन के भाई विजय जैन बंटी अंजना जैन नारियल परिवार को मिला। मुनि पुंगव सुधासागर महाराज की पिच्छिका ललितपुर की अगुवाई में जेसीवी के प्रदर्शन के साथ लेकर पहुंचे जिनके हाथों में भव्य अगुवाई के लिए ललितपुर जैन समाज को वर्ल्ड रिकार्ड का दर्जा मिला, लिए हुए थे।

मुनि श्री की पिच्छिका का विमोचन महेन्द्र मढवैया, जिनेन्द्र सिंघई आनंद जैन साइकल, देवेन्द्र जैन परिवार द्वारा किया गया जबकि पुरानी पिच्छिका जैन पंचायत के महामंत्री डा० अक्षय टडैया- मृदुला टडैया ने ग्रहण कर मुनि श्री से आशीर्वाद ग्रहण किया। जिनके पुण्य की अनुमोदना उपस्थित जनसमुदाय ने जयजयकारों के बीच की जिनका आयोजन समिति एवं जैन पंचायत समिति द्वारा सम्मानित किया। कार्यक्रम का मंचीय संचालन वालब्रहमचारी प्रदीप भैया सुयश ने करते हुए बताया कि जैन साधुओं का अहिंसा करुणा एवं जीवदया का उपकरण मयूर पिच्छिका है, मुनि जीवों की रक्षा के लिए मयूर पिच्छिका धारण करते हैं जिसका चातुर्मास के उपरान्त अभिनंदनोदय तीर्थ के शाही महापंचकल्याणक में सम्पन्न कराने का सौभाग्य ललितपुर समाज को मिला।

कार्यक्रम में प्रमुख रूप से प्रदीप जैन आदित्य पूर्व केन्द्रीय मंत्री, कैलाश नारायण निरंजन अध्यक्ष जिला पंचायत के अतिरिक्त प्रतिष्ठा महोत्सव के भगवान के माता पिता बनने का पुण्यजन कल्पना राजेन्द्र लल्लू धनवारा सौधर्म इन्द्र सुमन – स्वतंत्र मोदी नाराहट, धनपति कुवैर अशोक सुधा दैलवारा, महायज्ञ नायक रचना संजीव जैन सीए शिरोमणि आवक श्रेष्ठी महेन्द्र कुमार सराफ, विधि यज्ञनायक प्रभात कुमार सराफ भरतः चक्रवर्ती रवीन्द्र अलया, बाहुवली संजीव कुमार ममता स्पोर्ट ईशान इन्द्र विनय कुमार जैन मडावरा, सनत इन्द्र संजीव कुमार लकी, माहेन्द्र राजीव कुमार लकी, यज्ञनायक- महेन्द्र कुमार सराफ, अखिलेश गदयाना, विनय जैन जडीबूटी आलोक जैन लागौन, राजेन्द्र सराफ,संदीप सराफ लालू वीरेन्द्र कुमार गंगचारी महेन्द्र कुमार पालीवाले, राजकुमार खिरिया, राजा श्रेयांस राजीव अनौरा, राजा सोम (डा० अक्षय टडैया, ब्रहमेन्द्र- राजेश सिंघई धौरी, लान्तव इन्द्र लोकेश सराफ, शुक इन्द्र शुभम सराफ, प्राणत इन्द्र अभय जैन पारौल, आणत इन्द्र श्रीस सिंघई आरण इन्द्र अभिनंदन कुम्ली शतार इन्द्र पदमचंद मिठया महामण्डलेश्वर विकास जैन सीए अनूप जन मामा भाजा, सुबोध जैन सुरभि सन्मति सराफ सतीश नजा मौजूद रहे।

महोत्सव की व्यवस्थाओं को संयोजित करने में जैन पंचायत के अध्यक्ष अनिल जैन अंचल, राजेन्द्र जैन धनवारा, मोदी पंकज जैन पार्षद, शीलचंद अनौरा आदि का योगदान रहा।

सायंकाल मुनि श्री ने बहुचर्चित जिज्ञासा समाधान में श्रावकों की जिज्ञासाओं का समाधान किया तदुरान्त आरती भक्ति में श्रद्धालुओं ने सम्मलित होकर प्रभु की भक्ति आराधना की।

शाहीन रेजीमेंट आर्मी द्वारा होगी सलामी :

शाही चकल्याणक प्रतिष्ठा महोत्सव अयोध्यापुरी में 30 जनवरी को प्रातः30 बजे अभिषेक ,पूजन इसके बाद मंगल ध्वजारोहण स्थल पर पूजन ध्वजारोहण स्थल पर जैन रेजीमेंट आम द्वारा भव्य प्रस्तुति सलामी के साथ होगी।
12 बजे पात्र शुद्धि, सकलीकरण ,इन्द्र प्रतिष्ठा, नान्दी विधान मंगल कलश स्थापना सायकाल 6 बजे आचार्य भक्ति होगी।

-ललितपुर से डॉ सुनील संचय-अक्षय अलया की रिपोर्ट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here