कोरोना अब घातक नहीं पर सावधानी जरुरी

0
21

वर्तमान समय में हमारे देश में कोरोना पुन: फैल रहा है । कोरोना के नए वैरियंट जेएन-1के अब तक देश मे 3500 से अधिक मामले आ चुके हैं। यह ओमिक्रान से संबंधित है और तेजी से फैल रहा है,परन्तु सावधानी रखने पर पहले की तरह मारात्मक नहीं है ,इसके अन्तर्गत पचास प्रतिशत लोगों में तो कोई खास लक्षण दिखाई नहीं दे रहे पर जिनमें दिखते हैं उनमें नाक और गले में तकलीफ व खांसी व हल्का बुखार हो रहा है। इसलिए मरीज जल्दी ठीक हो रहे हैं। इसमें यह देखने में आया है कि यह वायरस उन लोगों पर ज्यादा असर कर रही है जिन्होंने टीके की डोज नहीं लगवाई या पूरी नहीं लगवाई, या जिन्हें पहले काफी सीवियर हुआ हो,या इस तरह के भी लक्षण रहे हों,या इस समय सर्दी से पूरा बचाव करके नहीं चल रहे हों,या जिनकी ईम्यूनिटी बहुत कम हो इस समय सर्दी बढ रही है व पारा भी चरम पर है,ऐसे में पूरी सावधानी जरुरी है,हम भीडभाड से बचें।मास्क का प्रयोग करें, हाथ मिलाने से बचें, साफ-सफाई का पूरा ध्यान रखें। अभी तक कुछ लोगों की मृत्यु भी हो चुकी है,ऐसे में 60 से अधिक उम्र के या जिनको घातक बीमारियां है,बच्चे व गर्भवती. महिलायें भी पूरी सावधानी बरते तो बेहतर होगा। अब इस समस्या के लिए दुर्गापुरा जयपुर निवासी अन्तर्राष्ट्रीय ख्यातिप्राप्त वरिष्ठ होम्योपैथ डा.एम.एल जैन “मणि ” ने अपने 50वर्ष से अधिक के अनुभव से इसकी प्रिवेंटिव दवा बनाई है जो इसमें होने वाले गले,नाक,खांसी व बुखार के लक्षणों को नियंत्रित रखेगी। इसका नाम कोजेएन रखा है,और यह 8949032693 पर सम्पर्क कर चिकित्सालय समय पर नि:शुल्क प्राप्त की जा सकती है। डां” मणि ” इस प्रकार की प्रिवेंटिव दवा बनाने के कुशल चिकित्सक हैं,और इस कार्य में डां शान्ति जैन ” मणि “, डां मनीष मणि व श्रेय जैन का भी पूरा सहयोग रहता है ।जिन्होंने पूर्व में भी आई फ्लू,मलेरिया,चिकिनगुनिया, स्वाईन फ्लू,डेंगू व कोविड की प्रतिषेधक दवाईयां तैयार की थी व इन्हें अनेकों राष्ट्रीय अवार्ड मिले थे।

राजाबाबु गोधा जैन गजट संवाददाता राजस्थान

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here