वाणी में चीनी जरूर डाले :- गुरु माँ विज्ञाश्री माताजी

0
91

गणिनी आर्यिका विज्ञाश्री माताजी के सान्निध्य में भक्तों ने मिलकर शांतिप्रभु की शांतिधारा करके स्वयं को धन्य किया । इस अनुपम दृश्य को देखने के लिए दूर – दूर से भक्तों का यहाँ मेला लगता है । आज की शान्तिधारा करने का सौभाग्य धर्मचन्द जी पहाड़ी वालों को प्राप्त हुआ । पूज्य गुरु माँ ने अपनी संयम की साधना को दृढ़तर बनाने के लिए अनशन व्रत धारण किया ।
श्रद्धालुओं को संबोधन देते हुए गुरु माँ ने कहा कि – आजकल नीम के वृक्ष तो घटते जा रहे हैं और परिवार में कड़वाहट बढ़ती जा रही है । वाणी में मिठास घटती जा रही है पर शरीर में मिठास (शुगर) बढ़ती जा रही है। जीवन को मधुर बनाने के लिए सर्वप्रथम अप्रिय , कटुक और कठोर वचनों का त्याग करके हित – मित – प्रिय वचन बोलना चाहिए ।
माताजी ने कहा कि – चाय में चीनी डालें या ना डालें, लेकिन वाणी में चीनी जरूर डालें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here