पार्श्वनाथ भगवान का मोक्ष कल्याणक दिवस निर्वाण मोदक लाडू चढ़ा कर मनाया

0
224

कोटा परम पूज्य मुनि चिन्मय सागर जी महाराज जंगल वाले बाबा की मंगल प्रेरणा से निर्मित श्री १००८ मुनिसुव्रतनाथ दिगम्बर जैन मंदिर आर के पुरम कोटा पर पार्श्वनाथ भगवान का मोक्ष कल्याणक दिवस सैंकड़ों की संख्या में हर्षोल्लास पूर्ण वातावरण भव्यता के साथ मनाया गया।
मंदिर समिति के अध्यक्ष महावीर जैन महामंत्री पवन कुमार जैन पाटोदी कोषाध्यक्ष ज्ञान चंद जैन ने बताया कि पार्श्वनाथ भगवान का स्वर्ण कलश से प्रथमाभिषेक व 108 रिद्धि मंत्रो से अभिषेक श्री बसंत जी जैन सपरिवार ने किया।
शांतिधारा श्री विनोद जी अभिषेक जैन टोरडी सपरिवार व हरक चन्द जी अनुज गोधा सपरिवार नेकी।
निर्वाण लाडू 1 श्री महेंद्र जी -अंजना जी. 2 प्रेम चंद जी -सुलोचना सोगानी 3 सुनील जी जैन सपरिवार ने बड़े भक्ति भाव पूर्वक सैंकड़ों धर्मावलंबियों के साथ चढ़ाया।मंदिर समिति के प्रचार प्रसार मंत्री राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी पारस जैन पार्श्वमणि ने बताया कि
इस अवसर पर अध्यक्ष महावीर जैन,महामंत्री पवन कुमार जैन पाटोदी , कोषाध्यक्ष ज्ञान चंद जैन व विनोद जैन टोरडी महामंत्री सकल दिग .जैन समाज कोटा सहित सैंकड़ों महिला पुरुष ,बच्चे उपस्थित रहे व निर्वाण लाडू चढ़ाया।लोगो के जय जयकारो से सारा मंदिर परिसर गूंज उठा। सायकल 48 मंगल दीपकों से महाआरती की गई। यह नियति एवं प्रकृति का सहयोगी रहा कि दिनांक 22 अंगास्त को 22 वे तीर्थकर भगवान नेमिनाथ का जन्म एवम तप कल्याणक महोत्सव भी श्रद्धा भक्ति और समर्पण के साथ मनाया गया। दिनांक 23 अगस्त को 23 वे तीर्थंकर पारसनाथ भगवान का मोक्ष निर्वाण महोत्सव मनाया गया। यह यादगार दुर्लभ क्षण स्मृति पटल पर सदेव बना रहेगा ।
प्रस्तुति पारस जैन पार्श्वमणि पत्रकार कोटा राजस्थान

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here