टोंक में जैन नसिया में हुए श्रीजी के कलशाभिषेक,

0
50

तिलकमति नाटिका का हुआ मंचन
****

फागी संवाददाता

श्री दिगंबर जैन नसिया टोंक में सोमवार को प्रातः काल की बेला में अभिषेक शांतिधारा के पश्चात नित्य नियम पूजा अर्चना श्रद्धालु द्वारा की गई सायकाल की बेला में आर्यिका 105 सूत्र मति माताजी के सानिध्य में कलशाभिषेक कार्यक्रम आयोजित हुआ जिसमे श्री जी को रजत सिंहासन पर विराजमान किया गया श्रीजी की माल का सोभाग्य महावीर प्रसाद, प्रदीप कुमार ,हुकम चंद , चंचल कुमार देवली वालों प्राप्त हुआ तत्पश्चात दशलक्षण महापर्व में आयोजित सभी प्रकार के सांस्कृतिक कार्यक्रम एवं प्रतियोगिताओं के विजेताओं को सम्मान एवं परितोषित वितरण किया गया, उसके बाद महिला मंडल द्वारा तिलकमति नाटिका का भव्य मंचन किया गया जिसका शुभारंभ समाज के अध्यक्ष भागचंद फुलेता, विमल बरवास, रिंकू बोरदा, अंकुर पाटनी, विकास अत्तार पवन कंटान, कमल सर्राफ ने चित्र अनावरण एवं दीप प्रज्ज्वलित किया णमोकार मंत्र का मंगलाचरण करके कार्यक्रम की शुरुआत की महिला मण्डल की लगभग 35 महिलाओ के द्वारा तिलकमति नाटिका का मंचन हुआ जिसमेतिलकमति ने अपने पूर्व जन्म में मुनि निंदा की थी इसके फल स्वरुप उसको इस भव मे काफी दुःख उठाने पड़े लेकिन पुण्यकार्य करने के कारण उसका विवाह एक ग्वाले की जगह एक राजा से हुआ जैसे दृश्य देखकर श्रद्धालु काफी भाव विभोर हुए इस मौके पर प्रियंका ,सीमा देवली, रचना टोरडी,राशी बरवास ,मोनू गोठड़ा,बीना, अन्तिमा, महक दाखिया,सोना शिवाडियाऔर गुंजन आदि महिलाओं ने नाटिका का मंचन किया।

राजाबाबु गोधा जैन गजट संवाददाता राजस्थान

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here