स्वर्गीय धर्म परायण महिला मनोरमा जैन बिलासपुरिया अब नहीं रही

0
21

27 जनवरी शनिवार 2024
जिला टोंक में 24 जनवरी को शाय काल मनोरमा जैन का निधन के समाचारों से संपूर्ण जिले में संपूर्ण जैन समाज में शोख की लड़ दौड़ गई

मनोरमा जैन अल्प आयु 53वर्ष की में असार संसार से बिलखते हुए परिवार को छोड़कर सदा सदा के लिए चल बसी
जिले टोंक में मधुर स्नेह धार्मिक कार्यों में अग्रसर रह कर पूरी समाज में अपनी अनोखी की पहचान बनाई

पीयर पक्ष नैनवा में मनोरमा शिक्षा के क्षेत्र में हमेशा प्रथम स्थान प्राप्त कर सभी गतिविधियों में संस्कृत कार्यक्रम बड
चढ़कर भाग लेकर मेंघावी होने का प्रमाण पत्र भी प्राप्त किया
तिए की बैठक पर अन्तिम श्रद्धांजलि 2500 लोगों ने थी

27 जनवरी को आज प्रातः 10:15 पर दिगंबर जैन सरावगी तेरापंथ नसिया चतुर्भुज तालाब टोक पर मनोरमा जैन को अपार जैन बंधुओ नहीं अजेन लोगों ने भी ने दूर-दूर से पहुंचकर अंतिम श्रद्धांजलि दी

मनोरमा जैन रात्रि भोजन के साथ-साथ समस्त प्रकार के जिमीकंद की त्यागी थी परिजनों साथ अतिशय क्षेत्र सिद्ध क्षेत्र की अनेकों बार वंदना की है
पियर पक्ष नैनवा में उनके परिवार के जैन मुनि भव्य सागर महाराज ने दीक्षा लेकर संपूर्ण भारतवर्ष में अपनी अनोखी पहचान एवं नाम कमाया
मनोरमा जैन के पति श्री पवन कुमार जैन इनके इलाज में पुत्र गौरव पुत्रवधू वनिता जैन ने ऐसी सेवाएं की है जिन्होंने पूरे टोंक समाज ने बताया की एक श्रवण कुमार ने अपने माता-पिता की सेवा की थी वह सेवा पति पुत्र और पुत्र वधू ने की है

मनोरमा जैन बिलासपुरिया पांच बहनों तीन भाइयों में सबसे छोटी बहन थी
जैन गजट पेपर के विशेष पत्रकार महावीर कुमार जैन सरावगी नैनवा की यह छोटी बहन थी

परिवार जिन्होंने जैन गजट पेपर को अपनी ओर से₹1100 का अनुदान राशि भेंट की है
भाई द्वारा बहन को अंतिम अंतिम विदा के दो शब्द

1लौट आओ मनोरमा लौट आओ/तेरी याद बहुत आती है *
2 ऐसा पसरा यह सन्नाटा /मानो श्मशान हो गया हो
3 जब भी नैनवा से जयपुर जाता था तेरे घर हो कर जाता था/वापस आऊंगा तो तेरी कमी पाऊंगा
4मेरे ख्वाबों में तू हर पल आओगी*
हो सके तू लौट मनोरमा
हो सके तु लौटा मनोरमा

महावीर कुमार जैन सरावगी जैन गजट संवाददाता नैनवा जिला बूंदी राजस्थान

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here