सुश्री अनीशा जैन का सपना डीएसपी बनने का हुआ सत्य

0
68

प्रथम प्रयास में बनी डीएसपी
✍️
पारस जैन पार्श्वमणि की कलम से

गौरझामर
(सागर मध्यप्रदेश) कितनी अच्छी बात मनुस्मृति ३/५६ में आई है यत्र नार्यस्तु पूज्यन्ते रमन्ते तत्र देवताः ।
यत्रैतास्तु न पूज्यन्ते सर्वास्तत्राफलाः क्रियाः ।।
जहाँ स्त्रियों की पूजा होती है वहाँ देवता निवास करते हैं और जहाँ स्त्रियों की पूजा नही होती है, उनका सम्मान नही होता है वहाँ किये गये समस्त अच्छे कर्म निष्फल हो जाते हैं। जी हा जीवन में यदि कठोर महनत लगन और समर्पण से यदि कोई भी कार्य शुरू किया जाए तो उसमे सफलता जरूर मिलती है यह बात एक दम सत्य है । इसको चरितार्थ किया गौरझामर की सुश्री अनीशा जैन ने उनका सपना था कि मैं प्रथम प्रयास में डीएसपी बनू।वो सच हुआ। मध्यप्रदेश के सागर जिले में गौरझामर कस्बे की सुश्री अनीशा जैन का चयन मध्यप्रदेश की पीएससी 2019 की परीक्षा में प्रथम प्रयास में ही डीएसपी पद के लिए चयन हुआ है। इस से पूरे बुंदेलखंड में हर्ष की लहर छा गई। विगत 31 वर्षो से पत्रकारिता के क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान देने वाले राष्ट्रीय मिडिया प्रभारी पारस जैन पार्श्वमणि पत्रकार कोटा ने जानकारी देते हुवे बताया कि गौरझामर निवासी श्रीमान संजय जैन धर्मपत्नी श्रीमति संगीता जैन की सुयोग्य सुपुत्री कुमारी अनीशा जैन देवी अहिल्या की नगरी इंदौर में रहकर पढ़ाई कर रही थी। अनीशा के दोनो भाई भी डीएसपी की तैयारी कर रहे है। अनीशा का जन्म 11 फरवरी 1997 को हुआ।आपने कंप्यूटर साइंस में बी ई किया।आपके पिता किराने का व्यवसाय करते है। अनीशा के दादा जी रिटायर्ड शिक्षक है। बचपन में दिए गए सद संस्कार पचपन की दहलीज पर पहुंचने पर भी ज्यो के त्यो बने रहते है। अनीशा जैन अपनी सफलता का श्रेय संत शिरोमणि आचार्य विद्यासागर जी महाराज एवं अपने माता-पिता दोनो भाई एवम मित्रो को दिया है।विभिन संस्थाओ संगठनों जन प्रतिनिधियों पदाधिकारीयो की शुभकामनाएं मिल रही है। राष्ट्रीय मिडिया प्रभारी पारस जैन पार्श्वमणि पत्रकार कोटा, विमल जैन जोला निवाई, रविन्द्र काला बूंदी, प्रकाश पटवारी निवाई, महावीर सरावगी बाबूलाल जैन नैनवा आदि समाज श्रेष्ठिगणों ने खूब खूब मंगलमय बधाईया देते हुवे शुभकामनाएं संपर्पित की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here