श्री मुनिसंघ सेवा समिति बापू नगर के बैनर तले आचार्य श्री चैत्यसागर जी मुनिराज ने दी आज क्षुल्लक दीक्षा।

0
7

डॉक्टर मनोज सांघवी बने
क्षुल्लक 105 श्री सर्वजीत सागर जी महाराज

जयपुर । श्री मुनिसंघ सेवा समिति, बापू नगर के बैनर तले परम पूज्य सर्वांगभूषण आचार्य श्री चैत्यसागर जी मुनिराज ने आज श्री दिगम्बर जैन नसियाँ भट्टारक जी परिसर में मानस्तम्भ के समक्ष आज भव्य भव्य जैन क्षुल्लिक दीक्षा दी। डॉक्टर मनोज सांघवी दीक्षा के बाद बने
क्षुल्लक 105 श्री सर्वजीत सागर जी महाराज ।आचार्य श्री ने कहाँ कि तमाम मुश्किलों को पार कर मिलती है, जैन धर्म में दीक्षा।
मनीष बैद ने बताया कि दीक्षा समारोह जब प्रारंभ हुआ तो दीक्षाथी ने गुरुवर की वंदना की , हाथ जोड़कर दीक्षा प्रदान करने की प्रार्थना की गुरुवर का आदेश पाकर वैराग्यमयी, सारगर्भित वचनों से जनता को उद्‍बोधन देते हैं तदुपरान्त दीक्षाथी ने हवा में उड़ने वाले केशों का लुन्चा करना प्रारंभ कर दिया।
दीक्षा के बाद नरेश कुमार सेठी, सुरेंद्र कुमार मोदी, राजीव जैन ग़ाज़ियाबाद, चिंतामणि रविन्द्र बज. मनीष बैद, मनोज झंझारी, सुधीर गंगवाल, नवीन संघी, रमेश बोहरा, अशोक कोल्टर, सूरज अजमेरा, सुलोचना निधि मोदी,दीपाली संघी, रचना बैद, बीना बोहरा, कविता पूजा बज, रंजू बाकलीवाल, ममता छाबड़ा, स्नेहलता काला, शशी सौगानी, विनोद जैन ने क्षुल्लक सर्वज्ञात सागर जी को नवीन पिच्छिका व शास्त्र भेंट किया। संचालन मनीष बैद ने किया।
छुल्लक सर्वजीत सागर जी महाराज दिगम्बर अवस्था को प्राप्त हुए । वे अपने जीवन को तपस्या एवं धार्मिक क्रियाओं के साथ मोक्ष मार्ग की ओर अग्रसित होंगे। इस दीक्षा को प्राप्त करने के उपरांत सूंपूर्ण भारत में पैदल ही विहार करेंगे व सभी वस्तुओं का त्याग करेंगे।
दीक्षा के पश्चात आचार्य श्री संसघ श्री दिगंबर जैन मंदिर मंगल विहार, गोपाल पुरा बाईपास के लिए मंगल विहार किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here