आचार्य श्री ससंघ का मंगल विहार गुवाहाटी से विजयनगर की ओर

0
5
गुवाहाटी : सहयोग होता है एक महीने का, 2 महीने का, 3 महीने का, गुवाहाटी वालों को पूरे 9 महीने का सहयोग मिला है। 11 जून को आए थे, 11 फरवरी को जा रहे हैं। वह भी 11 यह भी 11 सब काम 11 ही 11 होगा। अब 21 बाद में हो जाएगा। उन्होंने कहा कि जब मैं यहा संसघ के साथ आया था तो मैंने चार पंक्तियां बोली थी। आज  अपरिचित हूं , कल परिचित सा लगूंगा। आज हूं सपना, कल अपना सा लगूंगा। मानो या न मानो इस हकीकत को मित्रों, आज हूं नया-नया, कल पुराना सा लगूंगा। यह उक्त बातें भगवान महावीर धर्मस्थल में उपस्थित आचार्य श्री प्रमुख सागर महाराज ने श्रद्धालुओं को संबोधित करते हुए कही। उन्होंने उपस्थित सभी श्रद्धालुओं को अपना मंगल आशीष प्रदान कर आशीर्वाद दिया। मालूम हो कि आचार्य श्री ससंघ रविवार को दोपहर 1:30 बजे भगवान महावीर धर्मस्थल से धर्मसभा उपरांत विहार कर 7 k.m. की पदयात्रा करते हुए पांडू मंदिर पहूंचे। जहां आचार्य श्री का रात्रि विश्राम हुआ। सोमवार को संघ की राज कुमार- ऊषा देवी बड़जात्या के यहां विधिवत आहार चर्या संपन्न होगी तथा दोपहर1:30 बजे यहां से प्रस्थान कर संघ 9 k.m. की प्रलंब पद यात्रा करता हुआ धारापुर स्थित तुलसी ग्रांड पहूंचेगा जहां संघ का रात्रि विश्राम होगा मंगलवार को इसी स्थल में ससंघ की विधिवत आहार चर्या संपन्न होगी।आहार चर्या उपरांत दोपहर 1:30 बजे यहां से विहार होकर संघ 8 k.m. की पदयात्रा कर राजेन्द्र छाबड़ा की फैक्ट्री मोनपुर पहूंचेगा जहां संघ का रात्रि विश्राम एवं बुधवार को प्रातः6:15 बजे यहां से प्रस्थान कर लगभग 6 k.m.की पदयात्रा करते हुए ससंघ 7:30 बजे विजयनगर में प्रवेश करेगl। प्रसार के मुख्य संयोजक ओम प्रकाश सेठी ने बताया कि
आचार्य श्री ससंघ के आहार -विहार-निहार में सहयोगी बन शातिसय पुण्य का अर्जन करते हुए अपने जीवन को सार्थक करने का निवेदन किया है। यह जानकारी समाज की प्रचार-प्रसार विभाग के सहसयोंजक सुनील कुमार सेठी द्वारा एक प्रेस विज्ञप्ति में दी गई है।
*सुनील कुमार सेठी*
 प्रचार प्रसार विभाग,
 श्री दिगंबर जैन पंचायत, गुवाहाटी (असम)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here