शाश्वत तीर्थ सम्मेदशिखर जी यात्रा आनन्द पूर्वक सम्पन कर अपना परिवार यात्री संघ लौटे

0
106
श्री दिगम्बर जैन महासमिति की राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य व अजमेर के महामंत्री कमल गंगवाल ने बताया कि शाश्वत तीर्थ सम्मेदशिखर जी यात्रा आनन्द पूर्वक सम्पन कर  अपना परिवार  यात्री संघ आज रात्रि को वापिस लौटे उनका स्टेशन पहुंचने पर माल्यार्पण कर स्वागत कर सफलता पूर्वक यात्रा की बधाई दी। इस अवसर मुनि श्री प्रमाण सागर जी को अजमेर प्रवास हेतु श्री फल भेंट कर निबेदन किया मुनि श्री ने  सभी यात्रियों को आशीर्वाद प्रदान किया। इस 5 दिवसीय यात्रा मैं   121 सदस्यों का अपना परिवार यात्री संघ झारखंड स्तिथ जैन समाज के  सबसे बड़े तीर्थ स्थान श्रीसम्मेदशिखर की  यात्रा वन्दना  हेतु  यात्री दल 2 से 6 सितंबर तक 5 दिवसीय  यात्रा सानन्द संम्पन्न हुई ।
महावीर इंटरनेशनल अजयमेरु के सचिव विजय पांड्या ने बताया कि इस यात्रा के संघपति अमरचंदजी फरीदाबाद  , देवेंद्रजी पहाड़िया कुचामन, सुरेशजी गांधीधाम,भागचंद पहाड़िया बुरहानपुर है। इस यात्रा के संयोजक जम्बू कुमार शम्भू कुमार पहाडिया परिवार बुरहानपुर थे। इस यात्रा मैं  जयकुमार गौधा,विनय कटारिया,दिगम्बर जैन मुनि सेवा संघ अजमेर के मुकेश जैन,ललित पांड्या, सरोज पांड्या, महावीर इंटरनेशनल अजयमेरु के सचिव विजय पांड्या, सुनील पांड्या ,प्रमोद बीना मयंक महक जैन अजमेर,भागचंद,जम्बू ,शम्भू , अमिश विशाल सौरभ आयुष ,लक्ष्मी, मंजू नेहा प्रिया सोनाक्षी वन्दना पहाड़िया बुराहनपुर से नवीन पहाड़िया,बीना, कुचामन, प्रमोद ,बीना मयंक ,महक जैन अजमेर से डॉक्टर अतुल लुहाडीया लहर लुहाडीया उदयपुर, नरेश बबिता बज सवाई  माधोपुर,संजय पूनम प्रतीक सम्यक राकेश निश्चय पिराका सूरत, राहुल राजुल डोम्बिवली आदि भी शामिल रहे।
इस 5 दिवसीय कार्यक्रम के दौरान 3 को गुणायतन प्रणेता प्रमाण सागर जी के दर्शन कर वहां आयोजित शंका समाधान मैं 7 प्रश्न व उनकी शंका का समाधान मुनि श्री द्वारा दिया सभी ने यह कार्यक्रम टीवी चैनल पर लाइव माध्यम से लाखों लोगों ने देखा । 4 को सभी ने 27 किलोमीटर शिखर जी  पहाड़ पर  पैदल वन्दना की । 5 को  30  करीब स्थानीय मन्दिर  के दर्शन पूजन यहां कि यहां  चातुर्मास हेतु विराजमान समस्त मुनि संघ के दर्शन  ,पहाड़ के चारो और वाहन से वन्दना की गई रात्रि मैं स्नेह मिलन व जन्मदिन समारोह आयोजित हुआ । 6 को सुबह सिद्धायतन मैं अभिषेक शांतिधारा नित्य नियम पूजन व कल्याण मन्दिर विधान कार्यक्रम आयोजित हुआ । इसके बाद सभी ने आपसी स्नेह मिलन व विदाई समारोह आयोजित किया गया और रात्रि मैं सभी अपने अपने गंतव्य स्थान की और ट्रैन आदी से रवाना हुए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here