संस्कार ही समाज-परिवार का दर्पण : आचार्य प्रमुख सागर

0
47
भगवान महावीर धर्म र्स्थल में असम के राज्यकिय अतिथि आचार्य प्रमुख सागर महाराज ससंघ के पावन सानिध्य में धर्म की प्रभावना बह रही है।प्रात: अभिषेक- शांतिधारा के पश्चात आचार्य श्री ने आज धर्म सभा में संस्कारों पर प्रकाश डालते हुए कहा कि मनुष्य के संस्कार ही उसको आगे बढ़ने का मार्ग प्रशस्त करते हैं। व्यक्ति के जीवन में  संस्कार होना बहुत जरूरी है। संस्कार हमारे जीवन एवं परिवार का दर्पण है। मन, कर्म, एवं शरीर को पवित्र करना ही संस्कार है अगर संस्कार और मर्यादा ना हो तो मनुष्य का पतन निश्चित है। पुष्प प्रमुख वर्षा योग समिति के मुख्य संयोजक ओम प्रकाश सेठी ने बताया कि रविवार को आचार्य श्री के 50वें स्वर्ण जयंती महोत्सव एवं क्षमावाणी के अवसर पर मुख्यमंत्री डॉ हिमंत विश्व शर्मा पहुंचे थे। इस मौके पर उन्होंने आगामी साल से राज्यभर में साल के एक दिन को  क्षमा याचना दिवस घोषित करने की बात कही। मालूम हो कि आचार्य श्री ने मुख्यमंत्री से विश्व मंगल के लिए शांतिधारा करवाई ।तथा मंगल कलश देकर आशीष प्रदान किया। यह जानकारी समाज के प्रचार-प्रसार विभाग के सह संयोजक सुनील कुमार सेठी द्वारा दी गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here