सम्पूर्ण भारत वर्ष अयोध्या में राम प्राण प्रतिष्ठा समारोह में व्यस्त था उस समय अन्तर्राष्ट्रीय होम्योपैथी डाक्टर मणी जैन सभी प्रकार के रोगों की दवा बनाने में व्यस्त थे जिसका नाम “राम” रखा गया

0
20

अन्तर्राष्ट्रीय होम्योपैथी डाक्टर मणी जैन ने सभी प्रकार के रोगों की दवा का नाम राम होम्योपैथी में ” राम “, 22 जनवरी को जब पूरा देश राममय हो रहा था,पूरा देश रामलला के प्राण-प्रतिष्ठा महोत्सव में व्यस्त था उस समय एक चिकित्सक होम्योपैथिक दवाईयों में अनुसंधान कर रहे थे ,व उन्होंने शोध कर एक ऐसी होम्योपैथिक दवा बनाई है जो सभी प्रकार के दर्दों में आराम देगी,चाहे चोट का दर्द हो,या घुटनों का दर्द हो,या वातरोग हो आदि ,यह एक लम्बे अनुसंधान का परिणाम है ,इस ओषधि को निशुल्क प्राप्त किया जा सकता है । इसके कोम्बीनेशन एवं गुणों के आधार पर इसका नाम “राम” रखा गया है ।इस औषधी को 30,200,1000आदि पावर में मरीज की बीमारी के लक्षणों के आधार पर काम में लिया जा सकता है ।इस ओषधी का निर्माण अन्तरराष्ट्रीय ख्यातिप्राप्त वरिष्ठ होम्योपैथ डा.एम.एल जैन ” मणि” ने किया है,जिन्हें सैंकडों,राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय अवार्डों से अनेको राज्यपालों, प्रधानमंत्री आदि महापुरुषों द्वारा प्रशस्ति पत्र देकर नवाजा गया है,पूर्व उपराष्ट्रपति भैंरु सिंह जी शेखावत ने होम्योपैथिक पर बातचीत के लिए घर बुलाया था ,डा” मणि ” वर्ल्ड के प्रथम विश्वविद्यालय के प्रथम बैच के छात्र रहे हैं ।इन्होंने एक लम्बे चिकित्सकीय अनुभव के आधार पर अनेकों होम्योपैथिक दवाईयों का निर्माण किया है,आप लम्बे समय तक इस विश्वविद्यालय के शैक्षणिक सदस्य रहे हैं,व राजस्थान के होम्योपैथिक महाविद्यालयों में परीक्षक भी रहें हैं तथा राज्य सरकार की होम्योपैथिक कमेटी में भी सदस्य रहे हैं ।आप वर्तमान में चन्द्र प्रभू चिकित्सालय, दुर्गापुरा में निशुल्क सेवायें दे रहे हैं।

राजाबाबु गोधा जैन गजट संवाददाता राजस्थान

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here