राजस्थान सरकार करे ” अभिभावक कल्याण बोर्ड

0
80

जयपुर। सम्पूर्ण शिक्षा में सुधार, अभिभावकों एवं विद्यार्थियों के अधिकारों को लेकर संघर्ष कर रहे संयुक्त अभिभावक संघ ने राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से मांग की है की वह प्रदेश के अभिभावकों पर भी अपना ध्यान आकर्षित करे और अभिभावक कल्याण बोर्ड का गठन कर अभिभावकों की समस्याओं, व्यवस्थाओं एवं अधिकारों को सुनकर उनका कल्याण करें। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत विभिन्न समाजों की मांगों पर उदारता दिखाते हुए कई समाजों के कल्याण बोर्ड गठन करने की घोषणा कर चुके है। इसी तर्ज पर अभिभावक कल्याण बोर्ड का भी गठन करे जिससे अभिभावकों का कल्याण हो सके।

संयुक्त अभिभावक संघ प्रदेश प्रवक्ता अभिषेक जैन बिट्टू ने बताया की प्रदेश में 2 करोड़ से अधिक संख्या अभिभावकों की है, किंतु उनकी मांगों और अधिकारों को लेकर कोई सुनवाई नहीं हो रही है।

अभिभावकों का भी अपना अभिभावक समाज है और प्रत्येक अभिभावक की अपनी मांग भी होती है। अभिभावक की जायज व जरूरी मांगों पर विभिन्न स्तर पर समस्याओं का सामना करना पड़ता है इससे अनावश्यक रूप से इतने बड़ी संख्या के समाज को परेशान होना पड़ता है और कई बार यह समाज उद्वेलित होकर आंदोलन की राह पर आता है अगर उनकी जायज मांगों को समय रहते उचित माध्यम नही से सुना जाता है तो ना केवल अभिभावकों को संकटों का सामना करना पड़ता है बल्कि सुनवाई ना होने से विद्यार्थियों के भविष्य पर भी संकट खड़ा होता है। अगर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के कल्याण की भावना दर्शाते है तो यह ना केवल 2 करोड़ अभिभावकों का सम्मान होगा बल्कि 3 करोड़ से अधिक विद्यार्थियों का भी सम्मान होगा और सभी संतुष्ट भी होंगे।

संघ शुक्रवार को भेजेगा ज्ञापन

संयुक्त अभिभावक संघ अभिभावक कल्याण बोर्ड सहित कुल 5 प्रमुख मांगों को लेकर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को शुक्रवार ज्ञापन भेजने का कार्य करेगा। साथ ही मुख्यमंत्री से व्यक्तिगत रूप से मिलकर अभिभावकों व विद्यार्थियों के लिए कल्याण बोर्ड की स्थापना, RTE में आ रही समस्या, निजी स्कूलों, कोचिंग और कॉलेजों की मनमानी फीस सहित निजी स्कूलों में अभिभावकों व विधार्थियो के साथ हो रहे दुर्व्यवहारों की घटना, स्कूलों में बच्चियों की सुरक्षा, प्रदेश के विभिन्न निजी कोचिंग संस्थानों में विद्यार्थियों द्वारा की जा रही आत्महत्या जैसी घटनाओं को रोकने की मांग करेगा। पूर्व में भी संयुक्त अभिभावक संघ मुख्यमंत्री को भेजे पत्र में अभिभावक कल्याण बोर्ड के गठन की मांग कर चुका है किंतु राज्य सरकार ने अभी तक इस पर किसी प्रकार की सकारात्मक कार्रवाई नहीं हुई है ।

अभिषेक जैन बिट्टू ने कहा की अभिभावक कल्याण बोर्ड बनने से अभिभावक, विद्यार्थियों और सरकार के बीच में प्रत्येक संवाद सेतु का कार्य करेगा।

पिछले दिनों में मुख्यमंत्री ने सह्रदयता दिखाते हुए विभिन्न समाजों के कल्याण बोर्ड बनाने का कार्य किया है। संयुक्त अभिभावक संघ को आशा है की मुख्यमंत्री अभिभावकों के कल्याण की दिशा में जल्द अभिभावक बोर्ड के गठन की घोषणा कर प्रदेश के 2 करोड़ से अधिक अभिभावकों को न्याय दिलवाएंगे। जो अभिभावकों और विद्यार्थियों के कल्याण में मिल का पत्थर साबित होगा।

अभिषेक जैन बिट्टू
प्रदेश प्रवक्ता एवं मीडिया प्रभारी
संयुक्त अभिभावक संघ राजस्थान
जयपुर
मो – 9829566545
हेल्पलाइन नंबर – 9772377755

Twitter & Facebook
@SASRajasthan, @bittuabhijain
Email –
sasrajasthan@gmail.com

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here