जिम-डाइट से वजन कम करने की काल्पनिक धारणा —–विद्यावास्पति डॉक्टर अरविन्द प्रेमचंद जैन भोपाल

0
79

आजकल जिम संस्कृति का चलन बहुत अधिक बढ़ गया जिसका लाभ अनेक लोग ले रहे हैं और फायदेमंद हैं .इसके अलावा उनके द्वारा ही अपने स्तर से अनेक पौष्टिक आहार औषधियों के नाम पर परोस रहे हैं जो अत्याधिक मंहगे तो होते हैं और वे गुणवत्ताहीन रहते हैं.जिम में पसीना बहाने के नाम पर धोखाधड़ी की जा रही हैं .क्योकि व्यायाम की मात्रा का कोई ध्यान और ज्ञान नहीं होने से कल्पना जाल में फंसाये रहते हैं .
हमारे देश की जलवायु ,आहार विहार ऐसी हैं की यदि उनके अनुसार दिन चर्या ,ऋतुचर्या का नियमित पालन करे तो बहुत हद तक हम सुरक्षित और सुखी रह सकते हैं .अनियमितता भी नियमित हो तो हम स्वस्थ्य रह सकते हैं .हमारा आहार संतुलित हो और नियमित हो तो बहुत अधिक बिमारियों से मुक्त रह सकते हैं .
यह जरूरी नहीं है कि वजन कम करने के लिए कुछ महंगी और अनोखी चीजें ही खाने चाहिए। कुछ रोजाना खाई जाने वाले पारंपरिक भारतीय खाद्य पदार्थ भी तेजी से वजन कम कर सकते हैं। बस आपको यह पता होना चाहिए कि किस चीज को किसके साथ खाना चाहिए।
लोगों में यह एक आम धारणा है कि कम खाने से वजन तेजी से कम होगा। वजन कम करने का यह तरीका बिल्कुल गलत है और इससे बचना चाहिए । वजन कम करने और शरीर को स्वस्थ बनाए रखने के लिए पोषण अधिक जरूरी है। केवल कुछ खाद्य पदार्थ ही वजन घटाने में मदद करते हैं।
दाल-चावल
चावल के साथ मसूर की दाल कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन और फाइबर देती है। दरअसल दाल चावल के साथ दही और सलाद खाने से स्वस्थ वसा, प्रोटीन, फाइबर और अन्य आवश्यक खनिज मिलते हैं। दाल में वे सभी आवश्यक पोषक तत्व होते हैं। यह प्रोटीन, विटामिन, आयरन, कैल्शियम, कार्बोहाइड्रेट और फाइबर से भरपूर होता है, ये सभी शरीर के लिए फायदेमंद होते हैं। दूसरी ओर, चावल एक उच्च प्रोटीन, कम कार्बोहाइड्रेट वाला भोजन है जो आंत के लिए भी अच्छा है, जिससे यह वजन घटाने का एक बढ़िया मिश्रण है।
राजमा-चावल
राजमा चावल हर किसी को पसंद होता है और यह वजन घटाने में मदद कर सकता है। यह भोजन संतुष्टि देता है और इसकी उच्च फाइबर सामग्री और कम ग्लाइसेमिक इंडेक्स (जीआई) के कारण लंबे समय तक भरा हुआ महसूस कराता है। इसके अलावा, राजमा चावल में फाइबर कब्ज को रोकने, पाचन में सुधार और खराब कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद करता है। वे वसा और कैलोरी में भी कम हैं। इनमें से प्रत्येक पोषक तत्व वजन घटाने में सहायता कर सकता है।
इडली-सांबर
वजन घटाने के लिए साउथ इंडियन खाना बहुत अच्छा होता है। सबसे लोकप्रिय दक्षिण भारतीय व्यंजनों में से एक इडली सांभर है। यह न केवल एक हल्का भोजन है जो तैयार करना आसान है, बल्कि यह भरने वाला और कैलोरी में भी कम है। वास्तव में, डोसा या सब्जी उत्तपम सांबर के एक बड़े कटोरे के साथ अच्छी तरह से चलते हैं। एक इडली में केवल 40-60 कैलोरी होती है।
रोटी-सब्जी
यह वास्तव में, यह सबसे लोकप्रिय संयोजनों में से एक है। यह कैलोरी में कम और अपनी पसंदीदा सब्जी के साथ खाने में स्वादिष्ट होती है। सब्जियां विटामिन, कार्बोहाइड्रेट, फाइबर, खनिज और एंटीऑक्सिडेंट का भंडार हैं। यह वजन कम करने में भी सहायक है। वजन घटाने के लिए कुछ बेहतरीन सब्जियां हैं भिंडी मसाला, पालक पनीर, सोया भुर्जी, अंडे की भुर्जी।
दही-खिचड़ी
खिचड़ी में किसी भी प्रकार की दाल डालने से वह भरपेट भोजन में बदल जाती है। तूर दाल हो, मूंग दाल हो या चना दाल, सभी पौष्टिक और सेहतमंद होते हैं। मसूर, सामान्य तौर पर, प्रोटीन, आयरन, कैल्शियम, पोटेशियम और वसा जैसे पोषक तत्वों से भरपूर होता है। दाल में प्रोटीन होता है, जो लंबे समय तक भरा हुआ रखता है और मांसपेशियों के विकास में सहायता करता है। इसमें बहुत सारा फाइबर भी होता है, जो कब्ज में मदद कर सकता है। दाल खिचड़ी में प्रति सर्विंग केवल 203 कैलोरी होती है। यह व्यंजन मधुमेह रोगियों और हृदय रोगियों के लिए भी फायदेमंद है।
वजन घटाने को लेकर अलग अलग भ्रांतियां हैं .आधा पेट खाना ,एक चौथाई पानी और एक चौथाई पेट खाली रखना सबसे अच्छा होता हैं जबकि इसके विपरीत हम पूरे कंठ तक खाना खाते हैं उससे अजीर्ण होने की संभावना बानी रहती हैं .दूसरा अन्य विकल्प जैसे अंडा ,मांस मच्छली आदि को भी प्रोटीन ,आदि का अच्छा स्त्रोत बताकर मिश्रित खाद्य खिलाते हैं इनसे सावधान रहना होगा .
विद्यावाचस्पति डॉक्टर अरविन्द प्रेमचंद जैन विद्यावाचस्पति डॉक्टर अरविन्द प्रेमचंद जैन संरक्षक शाकाहार परिषद् A2 /104 पेसिफिक ब्लू ,नियर डी मार्ट, होशंगाबाद रोड, भोपाल 462026 मोबाइल ०९४२५००६७५३

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here