पानी सर्वोत्तम औषधि – विद्यावाचस्पति डॉक्टर अरविन्द प्रेमचंद जैन भोपाल

0
56

पानी अशुद्ध हमारे लिए बीमारियों का सुगम  स्त्रोत  हैं वहीँ पानी हमारे लिए सर्वोत्तम औषधि हैं .पानी
प्राप्त करने के कई स्त्रोत हैं पर वर्षा का जल सर्वोत्तम होता हैं .
खाट पतत सोमवायव्कैः स्पृष्टम  कालानुवर्तिभिः!
शीतोष्णस्निग्धरूक्षाद्यैर्यथासन्नम महीगुणैः !!
आकाश से गिरा हुआ जल ,समय के अनुसार गमन करने वाले चन्द्रमा ,वायु ,सूर्य से स्पर्श हो जाने के बाद समीप के पृथ्वी गुणके अनुसार शीत ,उष्ण ,स्निग्ध ,रूक्ष आदि गुणों से युक्त होता हैं .
शीतं शुचि शिवम मृष्टम विमलं लघु षड गुणं ! प्रकृत्या दिव्य मुदकं-
आकाशीय जल  यह वीर्य में शीत पवित्र ,सुखाकर ,स्वादु ,विमल लघु इस छह गुणों से युक्त स्वाभाव से दिव्य जल होता हैं .
इस प्रकार पानी का महत्व अपने आप में बहुत हैं .हमारा शरीर /प्रकृति पंचमहाभूतात्मक हैं जिसमे पृथ्वी ,जल,वायु अग्नि, आकाश से बना हैं .
मानव शरीर में पानी की मात्रा 60 फीसदी होती है। यह तो सभी जानते हैं कि ज्यादा से ज्यादा पानी पीना हमारे सेहत के लिए फायदेमंद होता है। उदाहरण के तौर पर, पानी शरीर के अंगों और ऊतकों की रक्षा करता है और आपकी कोशिकाओं तक पोषक तत्व और ऑक्सीजन पहुंचाता है। इसके अलावा यह आपके वजन कम करने में भी बहुत ही लाभदायक है तथा शरीर को स्वस्थ और फिट रखता है।
वैसे पेशाब, पसीने और मल त्याग के माध्यम से हमारे शरीर से पानी निकलता रहता है, जिससे हमारे शरीर में पानी की कमी होती रहती है। शरीर में पानी की कमी से डिहाइड्रेशन का सामना करना पड़ सकता है। डिहाइड्रेशन एक ऐसी स्थिति है जिसमें शरीर में महत्वपूर्ण कार्यों को करने के लिए पर्याप्त पानी नहीं होता है।
इसके अलावा शरीर में पानी की कमी से कब्ज, अस्थमा, एलर्जी, उच्च रक्तचाप, माइग्रेन और कई अन्य स्वास्थ्य समस्याएं पैदा हो सकती है। ऐसे में आपको ध्यान देना चाहिए कि 24 घंटे में आपको कितना पानी पीना चाहिए। आप नॉर्मल पानी के अलावा जूस, पेय और पानी वाले फलों का सेवन करके अपने शरीर में पानी की कमी को पूरा कर सकते हैं।
एक स्वस्थ आदमी को कितना पानी पीना चाहिए ? यह सवाल हर किसी के दिमाग में आता होगा। दरअसल एक दिन में कितना पानी पीना चाहिए इस सवाल को लेकर कई लोगों की अलग-अलग राय है। स्वास्थ्य से जुड़े लोग आमतौर पर एक दिन में 8 गिलास पानी पीने की सलाह देते हैं, जो दो लीटर के बराबर है। इसे 8 × 8 नियम कहा जाता है और याद रखना बहुत आसान है।
वहीं दूसरी तरफ कुछ लोग मानते हैं कि हम हमेशा निर्जलीकरण या डिहाइड्रेशन के कगार पर रहते हैं इसलिए हमें पूरे दिन पानी की घूट लेते रहना चाहिए। यहां तक कि जब आपको प्यास भी नहीं लग रही है, तब भी आपको पानी पीना चाहिए।वैसे चिकित्सा संस्थान ने यह निर्धारित किया है कि पुरुषों के लिए पानी की पर्याप्त मात्रा 3 लीटर है और महिलाओं के लिए, यह 2.2 लीटर है।
अधिकतम सीमा
आपका जितना वजन है उसमें दस से भाग कीजिए और जो अंक आता है उतने लीटर पानी आप एक दिन में अधिकतम पी सकते हैं। उदाहरण के लिए आपका वजन 60 किलो है। इसमें दस का भाग दे दीजिये, तो आपको एक दिन में छह लीटर पानी पीना चाहिए।
न्यूनतम सीमा
आप एक दिन में जितना भोजन करते हैं, उसमें दस का गुणा कर दीजिये, उतना कम से कम पानी आपको पीना चाहिए। उदाहरण के लिए आप एक दिन में 350 ग्राम भोजन लेते हैं तो उसको दस का गुणा कर दीजिये। तो आपको एक दिन में साढ़े तीन लीटर पानी कम से कम पीना चाहिये .
पानी पीने के नियम
निरंतर पानी पीना सेहत के लिए फायदेमंद होता है लेकिन 24 घंटे में कब पानी पीना चाहिए इस बात की भी आपको जानकारी रखनी चाहिए। अगर आप हाइड्रेशन, चयापचय और पाचन तंत्र को दुरुस्त करना चाहते हैं तो आपको पानी के महत्व को समझना चाहिए।
दरअसल आधुनिक युग में ज्यादातर लोग पेट संबंधित रोगों से परेशान रहते हैं। खान-पान का सही समय ना होना और हेवी तथा जंक फूड से दोस्ती बनाना ये कुछ ऐसे कारण है जिसकी वजह से पेट संबंधित रोगों को पनपने का मौका मिल जाता है। एक वजह और भी है जिसे पेट संबंधित सभी विकारों की मुख्य वजह माना जाता है, वह है पानी का सही समय पर सदुपयोग ना करना।
कहा जाता है कि यदि पेट को दुरुस्त ना रखा जाए तो 100 से ज्यादा रोग आपके ऊपर हमला कर सकते हैं। अगर आप भोजन के साथ-साथ पानी पीते हैं, तो पित्त और पेट में अम्लस के आवश्यक स्तर  पर असर डाल सकता है। इससे आपका भोजन ठीक प्रकार से हजम नहीं होगा और पेट में विषाक्त तत्व जमा होने शुरु हो जाएंगे। इसलिए जितना वक्त आप खाना खाने में लगाते हैं, थोड़ा वक्त उसे पचाने के बारे में सोंचे।
अगर आप खाना खाने के तुरंत बाद या साथ-साथ पानी पीते हैं तो वह एक जहर के समान है। खाने के साथ पानी पीने से भोजन पचता नहीं बल्कि सड़ता है। इससे पेट में विषाक्त तत्व जमा होने शुरू हो जाते हैं और आपका शरीर कई बीमारियों का घर बन जाता है।
1. भोजन के 30 से 40 मिनट पहले पानी का सेवन करें। इससे आप भोजन के बीच में पानी पीने से बच जाएंगे तथा भोजन पचाने वाले तत्व आपके पेट में असरदार तरीके से काम करने लगेंगे।
2. अगर आपको भोजन के दौरान प्यास लगती है तो आप एक-दो घूंट पानी पी सकते हैं। यदि पानी में नींबू या एप्‍पल साइडर वेनिगर मिला हुआ हो, तो इससे पाचन क्रिया और भी तेज हो जाती है।
3. भोजन करने के एक से डेढ़ घंटे बाद पानी पियें, जिससे भोजन को पचने का समय मिल सके और शरीर को जरूरी पोषण।
4. आप पानी जब भी पियें घूंट-घूंट पर पीये, क्योंकि एक साथ पानी पीने से मुंह के लार जिसकी वजह से पेट में अम्ल बनता है वह पेट में नहीं जा पाएगा।
5. अक्सर लोग गर्मियों में खुद को राहत देने के लिए ठंड़ा पानी पीना शुरू कर देते हैं। अगर आपको भी यह आदत है तो उसे जल्द ही बदल दें। आप गर्मियों में मटके और सर्दियों में गुनगुने पानी का सेवन कर सकते हैं।
पानी का सेवन हमारे लिए बहुत ही लाभकारी होता है क्योंकि जब हम पानी पीते हैं तो हमारी प्यास बुझ जाती है इसके इलावा पानी हमारे शरीर के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है क्योंकि जब हम पानी का सेवन करते हैं तो हम कई तरह की बीमारियों से बच जाते हैं जैसे कि पेट की समस्या, मोटापे की समस्या, सिर दर्द, बालों का झड़ना बंद होना आदि। जब हम अधिक मात्रा में पानी का सेवन करते हैं तो हमारे चेहरे पर चमक रहती है। इसके साथ हमारे शरीर में नई कोशिकाओं का निर्माण होता है।
जैसे कि हम जानते हैं कि पानी का सेवन करने से हमें कई तरह की बीमारियों का सामना नहीं करना पड़ता। लेकिन क्या आप जानते हो कि इसका फायदा हमें तभी होता है जब हम इसका सेवन सही ढंग से और सही समय पर करते हैं , और जब हम गलत समय पर पानी का सेवन करते हैं तो वो पानी अमृत की जगह पर जहर बन जाता है अर्थात् इससे हमें कई तरह की बीमारियों का सामना करना पड़ सकता है ,
जब आप सुबह उठते हैं तो आप को उस समय खाली पेट एक से दो गिलास पानी के पीने चाहिए। ऐसा करने से आपके शरीर की सारी गंदगी शरीर से बाहर निकल जाती है और आपके शरीर के सभी अंग सही ढंग से कम करने लगते हैं।
हमें पानी का सेवन खाना खाने के आधा घंटा करना चाहिए क्योंकि ऐसा करने से आप को भूख कम लगती है जिसके कारण आप खाना कम खाते हैं और आप को मोटापे का सामना नहीं करना पड़ता।
जब भी आप खाना खाते हैं तो आप को उसके साथ ही पानी का सेवन नहीं करना चाहिए क्योंकि ऐसा करने से आप का खाना जल्दी से हजम नहीं होता। जिसके कारण आप को पेट की समस्या का सामना करना पड़ सकता है।
जब भी आप को खाना खाते समय प्यास लगती है तो उस समय आप को दही या छाछ या रायता का सेवन करना चाहिए, क्योंकि जब आप इसका सेवन करते हो तो आप के शरीर को ठंडक तो मिलती है साथ ही आप का खाना अच्छे से पच जाता है।
जब भी हम काम करके थक जाते हैं और हमारा इससे अधिक काम करने का मन नहीं होता तो ऐसे में हमें पानी का सेवन करना चाहिए। इससे हमारी थकान तो दूर होती है साथ ही हमारा दिमाग अच्छे से काम करने लगता है।
जब हमारा दिन शुरू होने लगता है तो हमें पानी का अधिक सेवन करना चाहिए लेकिन जब शाम का समय हो तो हमें पानी का सेवन कम कर देना चाहिए क्योंकि शाम के समय पानी का अधिक सेवन करने से हमें बार बार बाथरुम जाना पड़ेगा, जिसके कारण हमारी नींद पूरी नहीं होगी।
जब भी आप नहाने से पहले पानी का सेवन करते हैं तो आप का ब्लडप्रेशर कम होने में आप सहायता मिलती है लेकिन जब आप गर्म शावर ले रहे हो तो आप को ठंडा पानी नहीं पीना चाहिए।
जब भी आप एक्सरसाइज करते हो तो आप को पानी का सेवन करना चाहिए क्योंकि जब आप पानी पीते हो तो आप की मांसपेशियों को एनर्जी मिलती है और आप को थकान कम लगती है लेकिन जब आप पानी का सेवन नहीं करते तो आप एक्सरसाइज करते हुए जल्दी थक जाओगे। इसलिए आप को पानी का सेवन करना चाहिए।
जब भी आप बीमार हो जाते हो तो आप को पानी का सेवन अधिक मात्रा में करना चाहिए, क्योंकि जब आप पानी पीते हो तो आप की बॉडी बहुत ही जल्द रिपेयर हो जाती है और आप ठीक हो जाते हो और प्रेगनेंसी के दिनों में भी महिलाओं को अधिक मात्रा में पानी का सेवन करना चाहिए। उन दोनों उन्हें कम से कम 10 गिलास पानी के पीने चाहिए।
इस प्रकार पानी हमारे शरीर संरक्षण के लिए बहुत ही लाभदायक होता हैं .इसके अलावा पानी की शुद्धता से पानी आपके लिए अमृत का काम करता हैं अन्यथा पानी से अतिशीघ्र अतिसार आंव,उलटी हैज़ा,पीलिया  जैसे रोग तत्काल होते हैं .इसीलिए हमेशा पानी छानकर और गुनगुना पीना लाभदायक होता हैं .
महिलाएं पानी पीने के मामले में बहुत आलसी होती हैं तथा उनको मन माफिक बाथरूम की सुविधा न मिलने पर पेशाब को बहुत समय तक रोककर रखती हैं और इसके कारण पानी कम पीती हैं .
स्वच्छ पानी सुखकारी और औषधिदायी होता हैं .हमारे लिए शुद्ध के साथ संक्रमण रहित होना चाहिए .
विद्यावाचस्पति डॉक्टर अरविन्द प्रेमचंद जैन संस्थापक शाकाहार परिषद् ,A2/104  पेसिफिक ब्लू ,नियर डी मार्ट ,होशंगाबाद रोड भोपाल 462026  मोबाइल 09425006753

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here