मुनियों से अभद्र व्यवहार, नहीं स्वीकार

0
148
औरंगाबाद मे  सकल जैन समाज की ओर से शहर में निकला विशाल मूक मोर्चा, समाज के सभी वर्गों ने साथ आकर दर्शाया विरोध
औरंगाबाद छत्रपति संभाजीनगर:नरेद्र अजमेरा पियुष कासलीवाल।                    अहिंसा के मूल  सिद्धांत को मानने वाले जैन समाज ने आज हिंसा के विरोध में अपना मौन लेकिन, कठोर रोष जताया, कर्नाटक में दिगंबर जैनाचार्य कामकुमारनंदीजी गुरुदेव की हत्या का विरोध दर्शाने सकल जैन समाज ने मूक मोर्चा निकाला.
रविवार सुबह ग्यारह बजे पैठण गेट परिसर में सकल जैन समाज की ओर से आयोजित इस मोर्चे में सकल जैन समाज के लोगों के साथ ही सकल जैन साधु-संत भी एक मंच पर आए. जैन मुनियों की सुरक्षा जैन धर्म की सुरक्षा’, ‘मुनियों से अभद्र व्यवहार जैन समाज नहीं करेगा स्यौकार’ जैसे नारों के फलक हाथ में लेकर बड़ी संख्या में जिन अनुयायी रास्ते पर उतरे, जैन आचार्य की हत्या को लेकर हर एक के मन में क्रोध था. लेकिन मूक मोर्चे के दौरान संयम, शांति, अनुशासन के साथ बिना कुछ कहे समाजजनों ने सब कुछ कह दिया.
पैठण गेट से निकला मूक मोर्चा गुलमंडी, मछली खड़क सिटी चौक, सराफा रोड मार्ग से शाहगंज स्थित गांधी प्रतिमा चौक पर पहुंचा दिगंबर जैनाचार्य कामकुमारनंदीजी गुरुदेव के गीत सभी ने सुने. इस दौरान साधु-संतों ने अपने विचार व्यक्त किए. हर समाजजन ने निषेध स्वरूप कमीज पर काला फीता लगा रखा था. मोर्चे में महिलाएं भी बड़ी संख्या में शामिल हुई, सकल जैन समाज के अध्यक्ष राजेंद्र दर्डा का स्वास्थ्य ठीक नहीं होने के चलते वह मोर्चे मैं शामिल नहीं हो सके समाज के कार्याध्यक्ष सुभाष झांबड ने कहा कि अध्यक्ष का समय- समय पर यथोचित मार्गदर्शन मिलता है. बाद में पुलिस उपायुक्त दीपक गिरहे को अपनी मांगों का ज्ञापन सौंपा गया. उपप्रवर्तक सिद्धार्थमुनिजी मसा, हंसबोधि विजय महाराज, प्रेमहंस विजय महाराज, डॉ सुयोगऋषि मसा, मुनि अर्हतकुमारजी मसा के नेतृत्व में निकले मोर्चे में निर्मलकुमार कोठारी पंचरंगी ध्वज लेकर सबसे आगे चल रहे थे. उनके पीछे काले रंग का बैनर लेकर महिलाएं
निषेध मुकमोचा
बोहरी समाज ने
दिया साथ
मूक मोर्चा सिटी चौक में आया तो बोहरा समाज के लोगों ने उपप्रवर्तक सिद्धार्थमुनिजी मसा से भेंट की और मोर्चे को समर्थन दिया.
शामिल हुई. विधायक प्रदीप जायस्वाल,
सकल मारवाड़ी सभा के अध्यक्ष डॉ पुरुषोत्तम दरख, माहेश्वरी समाज के जगदीश बियानी, भाजपा के शिरीष बोरालकर, पूर्व महापौर बापू घड़ामोड़े, दिलीप थोरात, दयाराम बसैये ने पहुंच कर मोर्चे को समर्थन दिया. सकल जैन समाज के कोषाध्यक्ष जीएम बोथरा, उपाध्यक्ष ललित पाटनी, झुंबरलाल पगारिया, सुधीर साहूजी, विलास साहुजी अनिल कुमार संचेती, कौशिक सुराणा, दिगंबर क्षीरसागर, मीठालाल कांकरिया, माणिक गंगवाल नरेंद्र  अजमेरा पियूष कासलीवाल  संजय पापडी
वाल प्रकाश कासलीवाल अशोक अजमेरा देवेद्र काला एम आर बडजाते संदीप ठोले अनुप पाटनी
विजय अजमेरा निता ठोले मनोज  छाबडा  निलेश जैन  अशोक गंगवाल
वर्धमान पांडे, विजय देसरडा, डॉ प्रकाश झांबड, तनसुख झांबड, चांदमल सुराणा, विलास साहूजी, संजय संचेती, विनोद बोकड़िया, वृषभ कासलीवाल, मुकेश साहूजी, नीलेश सावलकर, प्रकाश अजमेरा, मनोज बोरा, रवि लोढा नीलेश पहाड़े, राहुल साहूजी, अंकुर साहूजी, महिला मंडल की भारती बागरेचा, मनीषा भंसाली, करुणा साहुजी, भावना सेठिया, मंगला पारख, मेघा सुगंधी, संगीता संचेती, स्वाति मल्हारा समेत महावीर पाटनी ने किया.
छत्रपति संभाजीनगर में रविवार को सकल जैन समाज की ओर से पुलिस को ज्ञापन सौंपते हुए गुरुदेव साथ हैं विधायक प्रदीप जायस्वाल व अन्य
एकजुटता करेगी साधु- संतों की सुरक्षा
मुख्य बिंदु
साधुओं की सुरक्षा समेत लव जिहाद से बचाने महिलाओं पर अत्याचार रोकने जैसी मांगों को लेकर सौंपा ज्ञापन
पुरुषों के साथ महिलाएं भी बड़ी संख्या में हुई शामिल
साधु-संतों ने मंच से संबोधित करते हुए सकल जैन समाज को एकता के सूत्र में पिटोने का किया आह्वान
साधु-संत समाज धर्म, देश के हित के लिए जीवन बिताते हैं. अब साधु-संतों की सुरक्षा खतरे में है. इसके लिए सर्वधर्म के लोगों को देशभर में एकजुट होकर साधु-संतों की सुरक्षा के लिए प्रतिबद्ध होना चाहिए.
– उपप्रवर्तक सिद्धार्थमुनिजी मसा
न्याय न मिले, तब तक आंदोलन
जब तक मुनिश्री के हत्यारों को कठोर सजा न होगी, तब तक आंदोलन शुरू रखना होगा, कर्नाटक में हुई जैनाचार्य की हत्या देश के लिए कलंक की बात है.
-हंसबोधिजी विजयजी मसा
महिला-पुरुष बड़ी संख्या में शामिल हुए. संचालन सकल जैन समाज महासचिव महावीर  पाटनी ने कीया
कई समाजों ने की मोर्चे को अपना समर्थन देने की अपील की नरेंद्र  अजमेरा पियुष कासलीवाल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here