महामहिमश्रीमती द्रौपदी मुर्मू राष्ट्रपति जी के पास भेजा -जैन सिद्ध क्षेत्र गिरनार जनयाचिका पत्र-पवनघुवारा

0
47
पवनघुवारा ने महामहिमश्रीमती द्रौपदी मुर्मू राष्ट्रपति जी के  पास भेजा दिनांक 28/8/2023को -जैन सिद्ध क्षेत्र गिरनार जनयाचिका पत्र-भेजा जिसमें उल्लेखनीय है कि दिगंबर जैन सिद्धक्षेत्र गिरनार पर्वत गुजरात राज्य में स्थित विराजमान जैन समुदाय के २२ वें तीर्थकर नेमीनाथ भगवान की पाँचवी टोंक एवं  जूनागढ़ पर्वत माला में जैन आस्थाओ धार्मिक भावनाओं के साथ अनुष्ठान पूजा अर्चना सहित प्राचीन धरोहर सुरक्षित रहे इस उपासना स्थल के मूलस्वरुप को नष्ट होने से बचाया जा सके सविनय कार्यवाही बाबत। गोरतलब कि पत्र के साथ मे सन्दर्भत : ऐतिहासिक साक्ष्य , प्राचीन दस्तावेज साक्ष्य , शासन स्तर पर कार्य वाही पत्राचार , न्यायालय से गिरनार जी यथास्थितिआदेश .. एवं अधिनियम सुरक्षा आधारित 46 दस्तावेज भी लगाकर भेजे हैमाननीया महामहिम जी,विषयांर्गत सन्दभित बिन्दुओं के आधारित पत्र के माध्यम से राष्ट्रीय स्तर पर जैन समुदाय की जनभावनाओं पर ध्यान दिये जाने हेतु सविनय निवेदन है सिद्ध क्षेत्र गिरनार जी” हमारी ‘आस्था’ नहीं ‘आत्मा’ है!
 ने भी पूजा स्थल (विशेष उपबंध) अधिनियम, 1991 अधिनियमित किया था ताकि किसी पूजा स्थल की सम्परिवर्तन को रोका जा सके और यह व्यवस्था की जा सके कि किसी पूजा स्थल का धार्मिक स्वरूप बैसा ही बना रहे । सविनय संस्कृति सरक्षंण सम्बंधन राष्ट्रीय स्तरीय जैन सिद्ध क्षेत्र गिरनार जी हमारी आस्था नहीं आत्मा है जन हितार्थ र्सार्वभौमिक कार्यवाही मार्गदर्शन सहित पत्रोत्तर प्रतीक्षा मे सादर अभिवादन !
पवनघुवारा टीकमगढ़ म.प्र.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here