लिवर के लिए हानिकारक आदतें – विद्यावाचस्पति डॉक्टर अरविन्द प्रेमचंद जैन भोपाल

0
98

हर साल भारत में लाखों लोग लीवर संबंधित बीमारियों के चपेट में आते हैं। और कई मौते भी होती है। आमतौर पर यह माना जाता है कि यह लीवर सिर्फ शराब से खराब होता है। लेकिन, आप बिना जाने रोज ऐसी कई सारी चीजें भी कर रहें हैं जो आपके लीवर को धीरे-धीरे सड़ाने का काम कर रही है।
लीवर आपके शरीर का महत्वपूर्ण भाग होता है। खाने से लेकर पचाने और मल के रूप में विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने का सारा काम आपका लीवर ही करता है। ऐसे में इसका स्वस्थ्य रहना आपके स्वास्थ्य के लिए बहुत जरूरी होता है। आमतौर पर लोगों को पता होता है कि शराब से लीवर खराब होता है। लेकिन आप रोज ऐसी कई सारी चीजें कर रहें हैं जो आपके लीवर को धीरे-धीरे सड़ाने का काम कर रही है।
लीवर कमजोर होने के लक्षण
यदि आपका लीवर कमजोर हो रहा है तो आपके शरीर में कुछ विशेष लक्षण दिखाई देने लगते हैं। इसमें कमजोरी होना, भूख कम होना, उल्टी होना, नींद ना आना, दिनभर थकान महसूस होना, शरीर में सुस्ती बनी रहना, तेजी से वजन घटना और लीवर में सूजन जैसे लक्षण शामिल है।
विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार, लीवर की बीमारियों को देश में मौतों का दसवां सबसे आम कारण माना जाता है। लगभग 10 लाख भारतीयों हर साल लिवर सिरोसिस से ग्रसित होते हैं। यह भी दुनिया में मौतों के प्रमुख कारणों में से एक है।
​दवाओं का ज्यादा इस्तेमाल
ज्यादा दवाई खाने से लीवर डेमेज हो सकता है। लीवर का काम जड़ी-बूटियों, सप्लीमेंट्स और दवाओं सहित व्यक्ति द्वारा उपभोग की जाने वाली किसी भी चीज़ को तोड़ना है। कुछ दवाएं बहुत हार्ड होती है जिसका बहुत अधिक सेवन करने से लीवर को नुकसान हो सकता है। हर छोटी बीमारी में दवा खाने की आपकी आदत लीवर में इंफेक्शन से लेकर लीवर फेल होने तक की नौबत ला सकती है।जहाँ तक एलोपैथी दवाएं प्रत्यक्ष में आपके लिवर के अलावा अन्य अंगों पर भी विपरीत असर डालती हैं
​ पर्याप्त पानी नहीं पीना
आठ 8-औंस या गिलास जो लगभग 2 लीटर या आधा गैलन एक दिन के बराबर होता है। इसे 8×8 नियम कहा जाता है। हालांकि, कुछ विशेषज्ञों का मानना है कि आपको प्यासे न होने पर भी पूरे दिन लगातार पानी की घूंट पीने की जरूरत होती है।
​अनिद्रा बिगाड़ सकती है लीवर की तबीयत
नींद की कमी के कुछ खतरे हैं जिनमें यह भी शामिल है कि यह लीवर को ऑक्सीडेटिव तनाव पैदा कर सकता है।एक स्टडी के अनुसार, जो लोग नींद की कमी से पीड़ित हैं वे मधुमेह, मोटापा, हृदय रोग जैसी गंभीर स्वास्थ्य समस्याओं से पीड़ित होते हैं।
​ धूम्रपान करता है लीवर खराब
सिगरेट का धुआँ एक ऐसी आदत है जो अप्रत्यक्ष रूप से लीवर को प्रभावित करती है। सिगरेट के धुएं में पाए जाने वाले जहरीले रसायन धीरे-धीरे लीवर में पहुंच जाते हैं, जिससे ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस होता है। नतीजतन, लीवर फ्री रेडिकल्स का उत्पादन शुरू कर देता है जो लीवर की कोशिकाओं को नुकसान पहुंचा सकता है।
​ पैकेज्ड फूड का ज्यादा सेवन
अधिक मात्रा में पैकेज्ड फूड का सेवन लीवर को नुकसान पहुंचाते हैं। दरअसल, यह अक्सर एडिटिव्स, प्रिजर्वेटिव्स और फ्लेवरिंग से भरे होते हैं, जो लीवर के लिए तोड़ना चुनौतीपूर्ण होता हैं क्योंकि इनमें विभिन्न रसायन होते हैं।
​ आहार में बहुत अधिक चीनी
मुख्य मुद्दा उच्च फ्रुक्टोज के साथ है, जो ब्रेड, आइसक्रीम, जूस और सोडा जैसे खाद्य पदार्थों में मौजूद है। जबकि मानव शरीर में अधिकांश कोशिकाएं ग्लूकोज का चयापचय कर सकती हैं, केवल यकृत कोशिकाएं ही फ्रुक्टोज को संभालने में सक्षम होती हैं। यदि कोई व्यक्ति समय के साथ बहुत अधिक फ्रुक्टोज का सेवन करता है, तो लीवर को गंभीर क्षति हो सकती है।
​ असुरक्षित यौन संबंध
मुख्य रूप से कई पार्टनर के साथ संबंध लीवर के स्वास्थ्य के लिए आपके सोच से अधिक खतरनाक हो सकता है। सबसे महत्वपूर्ण जोखिम यह है कि एक व्यक्ति इस वजह से हेपेटाइटिस के चपेट में आ सकता है। हेपेटाइटिस सी एक संभावित घातक लीवर कीबीमारी है जिसे यौन संचारित होता है।
इसके अलावा अधिक गरिष्ठ खाना ,मिर्च मसाले ताली चीज़ें खाना ,अनियमित आहार सेवन करना ,प्रदूषित आहार जल का सेवन करने से भी लिवर ख़राब होने की संभावना होती है .इसके लिए हमें संभव हो तो प्रति सप्ताह एकाशन व उपवास करना लाभदायक होता हैं
आयुर्वेदानुसार आरोग्यवर्धिनी वटी , कुमारीआसव आदि फायदेमंद होते हैं .
विद्यावाचस्पति डॉक्टर अरविन्द प्रेमचंद जैन संरक्षक शाकाहार परिषद् A2 /104 पेसिफिक ब्लू ,नियर डी मार्ट, होशंगाबाद रोड, भोपाल 462026 मोबाइल ०९४२५००६७५३
सी ५०४ कुंदन एस्टेट ,कांटे बस्ती ,पिम्पले सौदागर पुणे ४११०२७

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here