दान करने से व्यक्ति को पाप के कर्मों से मुक्ति मिलती है: आचार्य श्री प्रमुख सागर

0
16
गुवाहाटी : भगवान महावीर धर्मस्थल में वर्षा कालीन वाचना के तहत प्रवचन श्रृंखला में धर्म की भव्य प्रभावना बढ़ रही है। वर्षा योग समिति के मुख्य संयोजक ओमप्रकाश सेठी ने अवगत कराया की कार्यक्रम में आज प्रात: श्रीजी की शांतिधारा, अभिषेक, अष्टद्रव्यो से पूजा के बाद आचार्य श्री प्रमुख सागर महाराज ने अपने मंगलमय उद्दोपन मे श्रावको को दान की महिमा बताई,  उन्होंने कहा कि दान देने से धन घटता नहीं है बल्कि बढ़ता है, जिस प्रकार धान का एक बीज धरती में गिरता है तो भगवान उस एक दाने के  बदलें आपको कई गुना फल देता है, उसी तरह किया गया दान भी  प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष  रूप से फलीफूत होता है।दान देने से व्यक्ति को पाप के कर्मों से मुक्ति मिलने के साथ ही  मानसिक शांति प्राप्त होती है।अत: श्रद्धा भक्ति से योग व्यक्ति को ही दान करना चाहिए। इस प्रकार से किए गए दान से भोग मोक्ष की प्राप्ति होती है।
मालूम हो कि पुष्प प्रमुख वर्षायोग समिति एवं श्री दिगंबर जैन यूथ फेडरेशन के तत्वधान में दो दिवसीय विशाल युवा शिविर का आयोजन शनिवार एवं रविवार को किया जाएगा। इस शिविर में भारत के प्रसिद्ध प्रशिक्षक एवं वक्ता को आमंत्रित किया गया है। तथा वास्तु शास्त्र की जानकारी देने के लिए प्रतिष्ठित विद्वान हंसमुख शास्त्री भी अपनी सेवा प्रदान करेंगे। इस शिविर में समाज के सभी युवक-युवतियों को भाग लेने का अनुरोध किया गया है । यह जानकारी समाज की प्रचार-प्रसार विभाग के मुख्य संयोजक ओम प्रकाश सेठी एवं सहसंयोजक सुनील कुमार सेठी द्वारा दी गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here