भक्तामर महामंडल विधान का आयोजन

0
53

अच्छी संगति से व्यक्तित्व निखर जाता है: आचार्य प्रमुख सागर महाराज
लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला बतौर मुख्य अतिथि उपस्थित थे

गुवाहाटी : आचार्य श्री प्रमुख सागर महाराज का 50वां स्वर्ण जयंती महोत्सव ससंघ के पावन सानिध्य में आज भगवान महावीर धर्मस्थल मे उत्साह पूर्वक बनाया गया। इस अवसर पर मुख्य अतिथि लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने आचार्य श्री के दर्शन कर विशेष प्रवचन में हिस्सा लिया। आचार्य श्री ने श्री बिरला को मोतियों की माला, शास्त्र आदि भेंट कर मंगल आशीष प्रदान किया । तत्पश्चात आचार्य श्री प्रमुख सागर महाराज द्वारा रचित। “बलिहारी गुरु आपकी” नामक पुस्तिका का विमोचन लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने किया। इस मौके पर आचार्य श्री ने अपने विशेष प्रवचन में श्रोताओं को संबोधित करते हुए कहा कि गलत स्थान पर पहुंच कर भी अपने मन को संभाल कर रखना बहुत कठिन होता है। यदि हम अपनी आत्मा का हित चाहते हैं, तो हमें अच्छे लोगों की संगति मे रहना चाहिए। जिस प्रकार अग्नि के पास मे पानी रखने पर वह गर्म हो जाता हैं, उसी प्रकार बुरे व्यक्तियों की संगति से उनके गुण हममें आ जाते हैं । दुष्टों की संगत से शिष्ट व्यक्ति भी दुष्ट हो जाता हैं।
इसलिए हमें अच्छी संगत में रहना चाहिए। इस मौके पर बतौर मुख्य अतिथि उपस्थित लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने आचार्य श्री को 50वीं स्वर्ण जयंती महोत्सव की अग्रिम बधाई एवं शुभकामनाएं दी। उन्होंने कहा कि संतो के समागम से जीवन में शांति मिलती है ।भव-भवो के संचित कर्म क्षय हो जाते है।परिणामों में निर्मलता आती है।
इससे पूर्व आज प्रातः आचार्य श्री ससंघ के निर्देशन में श्रीजी की शांतिधारा करने का परम सौभाग्य मनफूल देवी- प्रसन कुमार गंगवाल परिवार एवं रंजय अजमेरा गुवाहाटी को प्राप्त हुआ।
प्रचार प्रसार विभाग के मुख्य संयोजक ओम प्रकाश सेठी ने बताया की आज मनफूल देवी- स्वर्गीय राजकुमार गंगवाल परिवार गुवाहाटी द्वारा भक्तामर महामंडल विधान पूजन का आयोजन किया गया। इस अवसर पर सकल जैन समाज के गणमान्य लोगों के अलावा काफी संख्या में स्थानीय लोग उपस्थित थे। यह जानकारी समाज के प्रचार प्रसार विभाग के सह संयोजक सुनील कुमार सेठी द्वारा एक प्रेस विज्ञप्ति मे दी गई है।

सुनील कुमार सेठी
गुवाहाटी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here