बैंड-बाजों और जयकारों के साथ आचार्य सौरभ सागर महाराज का दुर्गापुरा में हुआ प्रवेश

0
149

जयपुर। छोटी काशी के नाम से विख्यात राजधानी जयपुर शहर में इन दिनों चातुर्मास को लेकर दिगंबर जैन संतों की प्रवेश यात्रा चल रही है। 29 वर्षों की कठोर तपस्या के मार्ग पर चलते हुए आचार्य सौरभ सागर महाराज ने रविवार को जयपुर नगरी में मंगल प्रवेश किया था, सोमवार को आचार्य श्री की यात्रा बापू नगर दिगंबर जैन मंदिर पहुंची थी और आज मंगलवार को दुर्गापुरा स्थित चंद्रप्रभ दिगंबर जैन मंदिर पहुंची जहां पर आचार्य श्री की मंगल अगवानी दुर्गापुरा जैन समाज सहित प्रबंध कमेटी के सदस्यों द्वारा पाद प्रक्षालन कर की गई।

कार्याध्यक्ष दुर्गालाल जैन ने बताया की आचार्य सौरभ सागर महाराज ने प्रातः 6.15 बजे बापू नगर स्थित दिगंबर जैन मंदिर से विहार यात्रा प्रारंभ करते हुए गांधी नगर, लालकोठी, लक्ष्मी मंदिर सिनेमा चौराहा, गोपालपुरा बाईपास चौराहा, इनकम टैक्स कॉलोनी होते हुए दुर्गापुरा दिगंबर जैन मंदिर में प्रवेश किया। जहां पर प्रबंध कमेटी, महिला मंडल, युवा मंडल सहित वर्षायोग समिति के पदाधिकारियों ने अगवानी की, इस बीच आचार्य श्री ने मूलनायक चंद्रप्रभ भगवान के दर्शन किए और उसके बाद धर्मसभा को संबोधित करते हुए उपस्थित श्रद्धालुओं को अपने आशीर्वचन दिए।

जयपुर में पहली बार होगा चातुर्मास

चातुर्मास कमेटी के मुख्य समन्वयक गजेंद्र बड़जात्या ने बताया की पुष्पगिरी तीर्थ प्रणेता गणाचार्य पुष्पदंत सागर महाराज के शिष्य आचार्य सौरभ सागर महाराज का राजधानी जयपुर ही नही बल्कि अखंड राजस्थान में पहली बार चातुर्मास होगा, आचार्य श्री ने 29 वर्षो पूर्व दीक्षा ग्रहण की थी, तब से लेकर अबतक आचार्य श्री के चरण राजस्थान में नही पढ़े थे, यह पहला अवसर और जयपुर जैन समाज का सौभाग्य है की आचार्य श्री के इस वर्ष का चातुर्मास करवाने का अवसर जयपुरवासियों को प्राप्त हुआ। आचार्य श्री के 28 चतुर्मासों में से 24 चातुर्मास राजधानी दिल्ली में संपन्न हुए, इसके अलावा उनके चातुर्मास पुष्पगिरी, मेरठ और हिसार में संपन्न हुए, उनका 29 वां चातुर्मास राजधानी जयपुर के प्रताप नगर स्थित सेक्टर 8 दिगंबर जैन मंदिर में होगा। जिसके लिए गुरुवार 29 जून को आचार्य सौरभ सागर का भव्य बैंड – बाजों और लवाजमों सहित हजारों श्रद्धालुओं की उपस्थित में प्रताप नगर में मंगल प्रवेश होगा। 2 जुलाई को चातुर्मास मंगल कलशों की स्थापना होगी जिसमें जयपुर ही नही बल्कि दिल्ली, गाजियाबाद, मेरठ, हिसार, फरीदाबाद, नोएडा, पानीपत, सोनीपत, मुज्जफर नगर, ग्वालियर, आगरा, भिंड, भरतपुर, दौसा सहित विभिन्न इलाकों से हजारों की संख्या में श्रद्धालुगण उपस्थित होगे। 3 जुलाई को गुरुपूर्णिमा महामहोत्सव होगा, 4 जुलाई को वीर शासन जयंती पर्व आचार्य श्री के सानिध्य के प्रताप नगर में मनाया जायेगा।

अभिषेक जैन बिट्टू
मो – 9829566545

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here