अंतरराष्ट्रीय विश्व शिक्षक दिवस — विद्यावाचस्पति डॉक्टर अरविन्द प्रेमचंद जैन भोपाल

0
71

गुरु, कोच, मास्टर, शिक्षक, प्रशिक्षक, पंडित, या प्रशिक्षक ये कुछ ऐसी उपाधियाँ हैं जिनसे हम अपने शिक्षकों को तब संबोधित करते हैं जब हमारे पारिवारिक शिक्षक हमारे ज्ञान और जीवन के दृष्टिकोण की नींव रखते हैं। हर साल पूरा विश्व शिक्षक को सम्मानित करने के लिए 5 अक्टूबर को विश्व शिक्षक दिवस मनाता हैं। हर साल यह दिन एक थीम के साथ मनाया जाता है। साल 2023 में भी विश्व शिक्षक दिवस एक थीम के साथ मनाया जाएगा, जिसके इर्द गिर्द पूरा कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा। उल्लेखनीय है कि हमारे स्कूल और कॉलेज जीवन का मुख्य आकर्षण शिक्षक और प्रोफेसर होते हैं। यहां तक कि प्रसिद्ध लोग भी मानते हैं कि प्रशिक्षक हमारे घर से बाहर के माता-पिता, रोल मॉडल और प्रेरणा के स्रोत के रूप में काम करते हैं। वे विश्व शिक्षक दिवस की जय-जयकार करते हैं। वे अपने अमूल्य पाठों के बिना अपने जीवन में इतना कुछ हासिल नहीं कर पाते। विश्व शिक्षक दिवस न तो कोई संघीय और न ही राज्य अवकाश है; यह एक विश्वव्यापी घटना है।
राष्ट्र के आधार पर, विभिन्न देशों में विश्व शिक्षक दिवस की अलग-अलग तारीखें मनाई जा सकती हैं। उदाहरण के लिए, संयुक्त राष्ट्र (यूएन) और कई अन्य देश हर साल 5 अक्टूबर को इस दिन को मनाते हैं, हालांकि ऑस्ट्रेलिया इसे अक्टूबर के आखिरी शुक्रवार को और संयुक्त राज्य अमेरिका मई के पहले पूरे सप्ताह के दौरान मंगलवार को मनाता है।
हर साल अलग-अलग प्रकार का थीम राष्ट्र संघ के यूनेस्को संगठन के द्वारा रखा जाता है इस साल शिक्षा का परिवर्तन शिक्षकों के परिवर्तन पर रखा गया है। इस थीम के ऊपर विशेष समारोह विभिन्न देश में आयोजित करवाए जाएंगे और शिक्षकों को विशेष सम्मान दिया जाएगा।
विश्व शिक्षक दिवस एक बहुत ही बेहतरीन समारोह होता है जिसे विश्व के विभिन्न देशों में विशेष रूप से आयोजित किया जाता है। मगर इस आयोजन की पूर्ण जिम्मेदारी राष्ट्रीय संघ के यूनेस्को के द्वारा उठाई जाती है। पूरा विश्व किसी एक मुद्दे पर विचार विमर्श करें और शिक्षा और शिक्षकों की स्थिति को बेहतर बनाने का प्रयास करें इसलिए हर साल विश्व शिक्षक दिवस के अवसर पर यूनेस्को की तरफ से एक थीम दिया जाता है।
थीम वह मुद्दा होता है जिसके ऊपर विश्व शिक्षक दिवस के अवसर पर विश्व के सभी देशों में विचार-विमर्श होता है ताकि शिक्षा और शिक्षक की स्थिति को और बेहतर बनाया जा सके। इस तरह के विभिन्न मुद्दों को कई सालों से उठाया जा रहा है इस साल विश्व शिक्षक दिवस का मुद्दा शिक्षा का परिवर्तन शिक्षक के साथ शुरू होता है।
हमारे जीवन पर हमारे शिक्षकों का बहुत प्रभाव पड़ता है। उनका योगदान शब्दों से अतुलनीय है। वे हमेशा हमें उचित दिशा में मार्गदर्शन करने के लिए मौजूद रहे हैं। उन्हें सम्मानित करने का एकमात्र उचित तरीका शिक्षक दिवस मनाना है। विश्व शिक्षक दिवस के महत्व को विश्व स्तर पर मान्यता प्राप्त है। विश्व शिक्षक दिवस के साथ-साथ भारत का अपना शिक्षक दिवस भी है।भारत में शिक्षक दिवस 5 सितंबर को मनाया जाता है, जो डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन की जयंती का प्रतीक है। प्रसिद्ध शिक्षक ने भारत के पहले उपराष्ट्रपति और दूसरे राष्ट्रपति के रूप में भी कार्य किया। हम 5 सितंबर को डॉ. राधाकृष्णन और देश भर के उन सभी शिक्षकों को सम्मानित करने के दिन के रूप में मनाते हैं जो बच्चों की शिक्षा में सहायता के लिए कड़ी मेहनत करते हैं।
विश्व स्तर पर विश्व शिक्षक दिवस 1994 से 5 अक्टूबर को मनाया जाता है। हमारे जीवन में शिक्षकों और शिक्षकों के महत्व की याद दिलाना ही शिक्षक दिवस को इतना महत्वपूर्ण बनाता है। यह हमने जो कुछ सीखा है उसके लिए धन्यवाद देने और हमारे जीवन में शिक्षकों द्वारा निभाई गई भूमिका का सम्मान करने का दिन है। यह अवकाश उन शिक्षकों और शिक्षकों के प्रति आभार व्यक्त करने का अवसर प्रदान करता है जो अपने छात्रों के भविष्य को संवारने में मदद करते हैं। शिक्षक न केवल ज्ञान और आदर्श प्रदान करते हैं बल्कि बाधाओं को दूर करने और एक ठोस आधार बनाने में भी हमारी मदद करते हैं। शिक्षक हममें से कई लोगों को प्रेरित करते हैं और हमारे भविष्य को संवारने में मदद करते हैं।
गुरु तेरे उपकार का,
कैसे चुकाऊं मैं मोल,
लाख कीमती धन भला,
गुरु हैं मेरे अनमोल हैप्पी टीचर्स डे 2023
माता गुरु हैं, पिता भी गुरु हैं,
विद्यालय के अध्यापक भी गुरु है
जिससे भी कुछ सिखा हैं हमने,
हमारे लिए हर वो शख्स गुरु हैं हैप्पी टीचर्स ‘ डे 2023
साक्षर हमें बनाते हैं
जीवन क्या है समझाते हैं
जब गिरते हैं हम हार कर तो साहस वही बढाते हैं
ऐसे महान व्यक्ति ही तो शिक्षक व गुरु कहलाते हैं
विद्यावाचस्पति डॉक्टर अरविन्द प्रेमचंद जैन संरक्षक शाकाहार परिषद् A2 /104 पेसिफिक ब्लू ,नियर डी मार्ट, होशंगाबाद रोड भोपाल 462026 मोबाइल ०९४२५००६७५३

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here