आज द्रोणगिरि में ध्वजारोहण के साथ होगी पंचकल्याणक महामहोत्सव की शुरुआत

0
25

द्रोणगिरि (सेंधपा) / – बुन्देलखण्ड की पावन भूमि, युगल सरिताओं से सुशोभित प्राकृतिक सौंदर्य से भरपूर लघु सम्मेद शिखर के नाम से सुविख्यात श्री दिगंबर जैन सिद्धक्षेत्र द्रोणगिरि (सेंधपा) की पावन पुण्य वसुंधरा पर भगवान पारसनाथ के 2800वें निर्वाण वर्ष तथा भगवान महावीर स्वामी के 2550वें निर्वाण वर्ष में परम पूज्य ,भारत गौरव राष्ट्रसंत गणाचार्य श्री विराग सागर जी महाराज तथा उच्चारणाचार्य श्री विनम्र सागर जी महाराज (पचास से अधिक साधु संत आर्यिका पिच्छिका धारियों) ससंघ के मंगल सान्निध्य में श्रीमज्जिनेन्द्र पंचकल्याणक श्री भक्तांबर मानस्तंभ जिनबिम्ब प्रतिष्ठा , गजरथ महोत्सव एवं विश्व शांति महायज्ञ का आयोजन विविध कार्यक्रमों के साथ आज सोमवार से प्रारंभ हो रहा है।
जैन तीर्थ द्रोणगिरि के अध्यक्ष कपिल मलैया, मंत्री सुनील घुवारा व सनत कुटोरा तथा उपाध्यक्ष राजेश रागी ने बताया कि इस महामहोत्सव में विश्व में प्रथम बार विशाल भव्य भक्तांबर मानस्तंभ जिनबिम्ब प्रतिष्ठा , 60 से अधिक जिनबिम्बों की प्रतिष्ठा हेतु 15 से 22 जनवरी 2024 तक पंचकल्याणक महोत्सव विश्व शांति महायज्ञ एवं गजरथ महामहोत्सव के साथ आयोजित होने जा रहा है । महामहोत्सव की अनमोल वैराग्यमयी क्षणिकाओं में , जन्म कल्याणक से मोक्ष कल्याणक तक की आध्यात्मिक इस पावन यात्रा में साधर्मी बन्धुओं को पधारने की अपील कमेटी ने की है।
बड़ामलहरा से प्रारंभ होगी घटयात्रा
आज इस महामहोत्सव के शुभारंभ में बड़ामलहरा के पाटन मंदिर से प्रातः 11 बजे घटयात्रा शुभारंभ होगी , जिसमें हजारों महिलाएं जल से भरे घट शिर पर लेकर, युवक ध्वज लेकर, दिव्यघोषों व गगनभेदी जयकारे की ध्वनि पर पूज्य आचार्य ससंघ के साथ आठ किमी दूर स्थित जैन तीर्थ द्रोणगिरि पहुंचकर पण्डाल एवं बेदी शुद्धि का कार्यक्रम विधि-विधान के साथ विविध कार्यक्रम सम्पन्न करायें जायेंगे।
देश के दो राष्ट्र संतो का होगा वात्सल्य मिलन
दोपहर 12 बजे भारत देश के दो महान राष्ट्रसंत भारत गौरव बुंदेलखंड के प्रथमाचार्य उपसर्ग विजेता गणाचार्य श्री विराग सागर जी महाराज एवं उच्चारणाचार्य श्री विनम्र सागर जी महाराज का वात्सल्य मिलन समारोह होगा।

आज सोमवार को होंगे विविध कार्यक्रम
दोपहर 1:00 बजे ध्वज स्थापन क्रिया , 1:42 बजे ध्वजारोहण, मंडप उद्घाटन, आचार्य निमंत्रण, महापात्र सम्मान, 2:15 बजे मंडप शुद्धि ,बेदी शुद्धि, 2:30,बजे मानस्तंभ अनावरण, 2:45 प्रस्तावित चौवीसी गेट अनावरण, 3:00 बजे अहारशाला उद्घाटन , 3:25 बजें भोजनशाला उद्घाटन 3:45 बजे आचार्य श्री के मंगल प्रवचन ,शाम 6:00 बजे हल्दी मेहंदी , 8:00 बजे शास्त्र सभा, महापात्राओं द्वारा मंच की पूर्व क्रियाएं तथा भावना योग किया जावेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here