फलटण में प्रभावना पूर्वक वर्षा योग संपन्न

0
63

महाराष्ट्र प्रांत के सातारा जिले का पलटण शहर जैन समाज की धर्म नगरी है ।यहां पर 550 जैन परिवार है, और जैन की आबादी 4500 है ।शहर में 7 भव्य जिन मंदिर है ।यहां पर अनेक साधुवोके वर्षायोग संपन्न होते आए हैं। इस वर्ष 20वीं शताब्दी के प्रथमाचार्य चारित्र चक्रवर्ती शांतिसागर जी गुरुदेव के पंचम पट्टाधीश वात्सल्य वारिधी आचार्य श्री वर्धमान सागर जी के प्रभावी तथा अज्ञानुवर्ती युगल शिष्य श्री अपूर्व सागर जी एवं आर्पित सागर जी का वर्षा योग बहुत ही प्रभावना पूर्वक श्री आदिनाथ दिगंबर जैन मंदिर शुक्रवार पेठ में भक्तिभाव से संपन्न हो रहा है।वर्षा योग मे आपके मुखारविंद से अष्टपाहुड ग्रंथ के पश्चात पुरूषार्थ सिद्धीऊपाय ग्रंथ की वाचना हो रही है।आपके सानिध्य में गुरु पूर्णिमा , रक्षाबंधन पर्व धूमधाम व उत्साह से संपन्न होने के पश्चात पर्युषण पर्व भक्ति भाव से संपन्न हुआ। इस समय आचार्य शांति सागर जी की पुण्यतिथि के अवसर पर भव्य जुलूस निकाला गया तथा उनके जीवनी पर चित्र प्रदर्शनी का आयोजन किया गया था। पर्यूषण पर्व में दो श्रावकों ने षोडश कारण के 32 उपवास, तीन श्रावकों ने सोलहकारण के उपवास ,सात श्रावकों ने दश लक्षण, 36 श्रावको ने पंचमेरू व्रत, एवं 22 श्रावको ने रत्नत्रय के उपवास किये जिनके पारने का समारोह बहुत ही धूमधाम से संपन्न किया गया ।पर्युषण पर्व में गुरुदेव के मुखारविंद से तत्वार्थ सूत्र की वाचना हुई। अनेक धार्मिक, सांस्कृतिक कार्यक्रम एवं अनेक स्पर्धाएं संपन्न हुई।जिसके कारण खूब धर्म प्रभावना हुई । बच्चे,युवा वर्ग छोटे-बड़े श्रावक सभी धर्म से जुड़े रहे। सभी कार्यक्रम सफलतापूर्वक संपन्न कराने में संघस्थ ब्रह्मचारी नमन भैया जी का विशेष योगदान रहा। वर्षा योग समिति के प्रकाश दोशी ,दीपक दोशी, आलोक दोशी आशिश दोशी, परेश गांधी, अनूप दोशी वर्षा योग ऐतिहासिक संपन्न कराने में अधिक परिश्रम ले रहे हैं। ऐसी जानकारी वर्षा योग समिति के संयोजक अशोक दोशी ने दी।
महावीर दीपचंद ठोले, औरंगाबाद महामंत्री श्री भारतवर्षीय दि जैन तीर्थ संरक्षिणी महासभा महाराष्ट्र प्रांत

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here