विद्या निलय पाठशाला रामपुरा का वार्षिक उत्सव अपार उत्साह और श्रद्धा भक्ति समर्पण के साथ मनाया

0
66

मां चंबल नदी के तट पर बसी शिक्षा की काशी धर्मप्राण नगरी कोटा के सन्त भवन में आयोजित धार्मिक विचित्र वेशभूषा प्रतियोगिता में 45प्रतियोगियो ने भाग लेकर शानदार कार्यक्रम प्रस्तुत किया
5‌ वर्ष से लेकर 85 वर्ष तक के कलाकारों ने बहुत ही सुन्दर प्रस्तुतियां दी
कार्यक्रम में दीप प्रज्जवलित
श्री मति पदमा जी सेठी कैलाश भवन एवं श्री रिखब चन्द जी चांद वाड श्री मति सुनीता जी चांद वाड परिवार एवं पीयूष जी बज श्री मति कविता जी बज ने किया
मंगलाचरण में भक्ति से नृत्य करके कार्यक्रम का भव्य शुभारंभ हुआ छोटे छोटे पाठशाला के बच्चों ने जैन धर्म पर आधारित प्रस्तुतियां दी तों सारे दर्शकों ने करतल ध्वनि से सभी का स्वागत किया
कार्यक्रम संयोजक जिनेन्द्र पापडीवाल ने बताया कि छोटे-छोटे बच्चों की प्रतियोगिता की गई जिसमें 3 निर्णायक बनाए गए श्री अभिषेक जी शास्त्री
श्री मति बीना जी जैन
श्री मति अंजु जी कासलीवाल ने प्रथम द्वितीय और तृतीय पुरस्कारों की घोषणा की
सभी बच्चों और बड़ों को सांत्वना पुरस्कार वितरित किए गए
श्री मति सुशीला जी दुगेरिया ने सभी का स्वागत किया और आभार प्रकट किया
श्री राकेश जी चपलमन ने मंच संचालन में सहयोग प्रदान किया
सभी व्यवस्था समिति के सदस्यों ने व्यवस्था में सहयोग प्रदान किया दस उपवास करने वाली श्री मति शोभा जी का भी सम्मान किया गया
श्री दिगम्बर जैन यात्रा संघ रामपुरा और श्री मान सुरेश जी सामरिया परिवार की ओर से शोभा जी को माला दुपट्टा और शाल पहनाकर सम्मानित किया गया । उक्त समस्त जानकारी 31 वर्षो से पत्रकारिता के क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान देने वाले राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी पारस जैन पार्श्वमणि पत्रकार कोटा ने प्रदान की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here