वाणी और विचार जीवन के उत्पादक: आचार्य प्रमुख सागर

0
21

गुवाहाटी : फैंसी बाजार स्थित भगवान महावीर धर्म स्थल में विराजमान आचार्य प्रमुख सागर महाराज ने आज उपस्थित श्रद्धालुओं को संबोधित करते हुए कहा कि बोलने की भी एक कला होती है, जिसे बोलने की कला आ जाए, समझो संसार की हर बला से वह बच सकता है। वक्ता प्रमाणिक तभी होता है, जब उसके वचनों में प्रमाणिकता, सत्ता,निश्चता आदि उदारता कि भावनाएं झलकती है। उन्होंने कहा की वाणी और विचार यह दोनों आपके जीवन के खुद के उत्पादक व खुद के प्रोजेक्ट है। ख्याल रखना बाणी-वानी का काम करे तो वीणा बन जाती है, और वाणी-वान का काम करे तो वीणा बन जाती है।मालूम हो कि भगवान महावीर धर्म स्थल में सोमवार से सायं 7:30 बजे से 8:30 बजे तक टैरो कार्ड से संबन्धित एक कार्यशाला का आयोजन किया जाएगा। जिसमें आचार्य श्री की अनन्य भक्त कुमारी कृति जैन टैरो कार्ड से संबन्धित रीडिंग के द्वारा लोगों के जिंदगी के कुछ ऐसे पन्नो को खोलने की कोशिश करेगी जिसे जानने के लिए सभी की जिज्ञासा बनी रहती है। प्रचार प्रसार के मुख्य संयोजक ओमप्रकाश सेठी ने बताया कि सात दिवसीय आध्यात्मिक शिक्षक शिविर के तहत आयोजित होने वाले इस कार्यक्रम मे नि:शुल्क समस्या का समाधान किया जाएगा। यह जानकारी प्रचार प्रसार के सहसंयोजक सुनील कुमार सेठी द्वारा दी गई है।

सुनील कुमार सेठी
प्रचार प्रसार विभाग
श्री दिगंबर जैन पंचायत, गुवाहाटी (असम)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here