सोनीनगर में पंचकल्याणक प्रतिष्ठा महामहोत्सव सानंद सम्पन्न

0
14

अजमेर 02 फरवरी, 2024 श्री आदिनाथ दिगम्बर जैन मन्दिर समिति, सोनीनगर अजमेर  के नवनिर्मित प्रथम तल पर जिनालय का भव्य पंचकल्याणक प्रतिष्ठा महामहोत्सव में आज पंचकल्याणक पांडाल में सप्तम पटृाधीष आचार्य श्री विवेकसागरजी महाराज ने आज मोक्ष कल्याणक के अवसर पर विषाल धर्म सभा को संबोधित करते हुये कहा कि मनुष्य का दिल मजबूत हो तो काटो पर भी चला जा सकता है दिल कमजोर हो तो पंचकल्याणक जैसे भव्य महोत्सव मनाये जा सकते है पंचकल्याणक महोत्सव के पांच दिन पूरे हो गये पंचकल्याणक की क्रिया 24 दिन पहले से प्रारंभ होती है तो वह अनेक उंचाई तक पहुंचता है जीवन के लिये महत्वपूर्ण है कि एक दिन ऐसा नहीं होता कि जिस दिन प्रभु की जय नहीं बोलते जो भगवान का गुणगाण करते है तो देव भी उनकी रक्षा करते है । अगर हमें किसी की शरण मिल रही हो तो संसारी प्राणी की साधु की शरण नहीे भगवान की साधु की शरण में जाना चाहिये ।
प्रचार प्रसार मंत्री संजय कुमार जैन व प्रवक्ता कमल गंगवाल ने बताया कि आज प्रातः सोनीनगर मन्दिरजी में व पंचकल्याणक पांडाल में जिनेन्द्र भगवान के अभिषेक सभी पात्रों द्वारा किये गये तथा वृहषान्तिधारा करने का सौभाग्य विमलादेवी ष्यामलाल बडजात्या परिवार वाले परिवार द्वारा की गयी तथा नित्य नियम पूजन, याज्ञमंडल पूजन, आदिनाथ भगवान की पूजा, ज्ञान कल्याणक पूजा, मोक्ष कल्याणक पूजा, जाप्यानुष्ठान, हवन आदि
दीप प्रज्जवलन, पाद प्रक्षालन, शास्त्र भेंट का सौभाग्य गंगवाल परिवार
जैन ने बताया कि आज प्रातः आचार्य श्री का पाद प्रक्षालन, चित्र दीप प्रज्ज्वलन, शास्त्रभेंट करने का सौभाग्य श्रीमती मोहिनीदेवी मातुश्री सुनील कमल, धनेष, पंकज, सचिन गंगवाल, श्री मनोकामना ज्वैलर्स परिवार द्वारा किया गया तथा उनका समिति की ओर से साफा पहनाकर महेष गंगवाल परिवार का भी अभिनंदन किया गया । तत्पष्चात वैषालीनगर महिला मंडल द्वारा सुन्दर मंगलाचरण प्रस्तुत किया गया।
मुख्य संयोजक मनोज अजमेरा ने ने बताया कि आज सुबह भगवान का मोक्ष आचार्य विवेकसागरजी महाराज के सान्निध्य में हुआ उसके पष्चात भगवान पार्ष्वनाथ को रथ में विराजित करने का सौभाग्य श्रीमती गंगादेवी मित्तल परिवार को प्राप्त हुआ तथा सारथी के रूप में पदमचंद अंजीव कुमार बाकलीवाल परिवार को प्राप्त हुआ जुलूस पांडाल से प्रारंभ हुआ जो पुलिस चौकी, अ,द्वेत आश्रम, रामनगर, कृष्णाकालोनी होते हुये वापिस मंदिरजी पहुंचा जहां पर विधि विधान पूर्वक मूलनायक भगवान पार्ष्वनाथ को नवीन बेदी में विराजने का सौभाग्य उत्तमचंद राजेष पाटनी को प्राप्त हुआ इसी प्रंकार सभी 8 भगवान नबीन बेदी में पुण्यार्जक परिवारों द्वारा विराजित किये गये तथा 6 भगवान सिहंासन पर विराजित किये गये व सभी भगवान पर छत्र चढायेे गये । षिखर पर ध्वज फहराया व कलष चढाये गये ।
अन्त में अध्यक्ष डॉ. राजकुमार गोधा ने जिला प्रषासन, पुलिस प्रषासन, मीडिया, प्रेस रिपोर्टर, फोटोग्राफर, नगर निगम प्रषासन, भागचंद सोनीनगर विकास समिति, टेन्टवाले, संगीतकार, नाटककार, सभी महिला मंडल, सोषल ग्रुप, जैन मित्र मंडल, सभी संस्थाओं, पंचायतों के अध्यक्ष-मंत्री, सभी सोनीनगर के कार्यकर्ताओं, महिला मंडल, प्रतिष्ठाचार्य पं. कुमुदचंद सोनी सहयोगीयो व दोसी हाउस के परिवार का आभार व्यक्त किया धन्यवाद ज्ञापित किया ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here