‘साहित्य वारिधि’ की मानद उपाधि के साथ डॉ. दिलीप धींग को श्रुतसेवा सम्मान

0
9

फिरोजाबाद (उप्र)।शसुन जैन कॉलेज, चेन्नई में जैनविद्या विभाग के शोध-प्रमुख साहित्यकार डॉ. दिलीप धींग को श्रुतसेवा निधि न्यास द्वारा 4 फरवरी 2024 को फिरोजाबाद (उ.प्र.) में ‘साहित्य वारिधि’ की मानद उपाधि के साथ शांतिदेवी गुप्त श्रुतसेवा अलंकरण से सम्मानित किया गया। न्यास के 18वें वार्षिक समारोह ‘अक्षराभिषेकोत्सव’ में उन्हें यह राष्ट्रीय सम्मान जैनविद्या, प्राकृत भाषा, साहित्य व अहिंसा के क्षेत्र में उनके सतत, सुदीर्घ व उत्कृष्ट योगदान के लिए प्रदान किया गया। मुख्य अतिथि रमेशचंद्र गुप्त, अध्यक्ष मुकेशकुमार जैन एवं पदाधिकारियों ने उन्हें प्रशस्ति-पत्र, स्मृति-चिह्न, शॉल, पुष्पहार, साहित्य और 25 हजार रु. के मानधन के साथ सम्मानित किया।
खचाखच भरे फिरोजाबाद क्लब सभागार में निदेशक अनूपचंद जैन (एडवोकेट) ने प्रशस्ति-पत्र वाचन के साथ ‘अक्षर पुरुष’ डॉ. धींग को ‘साहित्य वारिधि’ की मानद उपाधि प्रदान की तो सभागार तालियों की गड़गड़ाहट से गूंज उठा। उन्होंने कहा कि वे पिछले 40 वर्षों से डॉ. धींग को पढ़ रहे हैं। हर विधा में वे लिखते हैं और हर पत्रिका में उनकी रचनाएँ पढ़ने को मिलती हैं। डॉ. धींग ने न्यास के संस्थापक स्व. प्राचार्य नरेन्द्रप्रकाश जैन के श्रुत-अवदान का स्मरण किया और ‘तमिलनाडु में जैन संस्कृति की प्राचीन विरासत’ पर व्याख्यान दिया। महामंत्री अमितकुमार जैन ‘राजा’ ने न्यास का प्रगति प्रतिवेदन प्रस्तुत किया। अजमेर के चिकित्सक डॉ. आरके गोखरू को आरोग्य भारती एवं अशोक कुमार जैन ‘लाले’ को संयम सेवा सम्मान दिया गया।
डॉ. धींग एवं अतिथियों ने दिव्यांशी, अदिती तथा शिवम अग्रवाल को प्रतिभा सम्मान से सम्मानित किया। डॉ. तुलसी देवी तथा स्व. चंद्रवीर जैन की पुस्तकों का लोकार्पण किया। डॉ. संध्या द्विवेदी ने उपस्थित जनसमूह को मतदान करने की शपथ दिलाई। समारोह में पूर्व सांसद कवि ओमपालसिंह निडर, उद्योगपति प्रदीप गुप्ता, कोषाध्यक्ष प्रमोदकुमार जैन, पुष्पराज जैन, महावीर प्रसाद जैन, विनोदकुमार जैन सहित अनेक साहित्यकार, विद्वान, शिक्षाविद्, समाजसेवी और प्रबुद्धजन उपस्थित थे। निदेशक एड. अनूपचंद्र जैन एवं सह-निदेशक एड. अजयकुमार जैन ने संचालन किया।
इससे पूर्व डॉ. धींग ने श्री दिगंबर जैन रत्नत्रय मंदिर, नसियांजी में विराजित आचार्य श्री निर्भयसागर जी महाराज के दर्शन किये एवं दिगंबर जैन पाठशाला परिषद् के पुरस्कार वितरण समारोह में विद्यार्थियों को उद्बोधन दिया।
– अमितकुमार जैन ‘राजा’ (महामंत्री)
संलग्न: सम्मान एवं प्रशस्ति चित्र

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here