पालक केवल साग नहीं हमारी पालनहार भी हैं – विद्यावाचस्पति डॉक्टर अरविन्द प्रेमचंद जैनभोपाल

0
48
शाकाहार भोजन के अंदर आपको प्रोटीन, विटामिन, कैल्शियम समेत कई सारे पोषक तत्व मिलेंगे।
कई लोग मानते हैं कि शाकाहार भोजन में मांसाहार भोजन से कम न्यूट्रिशन होता है। लेकिन यह एक भ्र्म हैं .
पालक सबसे पोषक शाकाहारी सब्जी है, जिसमें अनगिनत पोषक तत्व छिपे होते हैं। ये घटक सेहत का खजाना हैं, जो आपकी नस-नस में कमाल की ताकत भर देंगे। वहीं, आहार में पालक शामिल करके आप तेजी से वजन कम कर सकते हैं और हड्डियों को मजबूत बना सकते हैं। डायबिटीज पेशेंट्स के लिए भी पालक शानदार वीगन फूड है।
सर्दियों में पालक पनीर और पालक का साग काफी टेस्टी लगता है। लेकिन सर्दियों में पालक खाने का फायदा यह भी है कि इससे पानी की कमी पूरी होती है। चूंकि सर्दियों में कम पानी पिया जाता है, जिससे ड्राई स्किन, डैंड्रफ, थकान जैसी समस्या हो सकती है। वहीं, पालक में सबसे ज्यादा पानी होता है। पालक का ९१ प्रतिशत हिस्सा पानी ही होता है। जिसके कारण इसे खाने से पानी की कमी नहीं होती।
प्रोटीन
लोगों को लगता है कि शाकाहारी चीजों में प्रोटीन नहीं होता है। लेकिन यह एक गलत अवधारणा है। क्योंकि, करीब १०० ग्राम पालक के पत्ते खाने से ही 2.9 ग्राम प्रोटीन मिल जाता है। जो कि आपकी मांसपेशियों को मजबूत बनाने में मदद करता है। प्रोटीन से भरपूर शाकाहार भोजन में पालक जरूर खाएं।
आप फैट बर्न करके पतले होना चाहते हैं, तो पालक खाना शुरू करें। इसमें भरपूर मात्रा में इनसॉल्यूबल फाइबर होता है, जो पाचन और मेटाबॉलिज्म को सुधारता है। इससे फैट तेजी से बर्न होता है और आपकी चर्बी घटने लगती है। यह वेजिटेरियन फूड कब्ज को ठीक करने में भी मदद करता है।
बच्चों के लिए पालक का सेवन काफी जरूरी होता है। क्योंकि, यह उनकी हड्डियों के विकास और मजबूती में मदद करता है। १०० ग्राम पालक के पत्तों के अंदर करीब ९९ एमजी कैल्शियम होता है। नर्वस सिस्टम, हार्ट और मसल्स के लिए भी कैल्शियम महत्वपूर्ण होता है।
खून की कमी दूर करने वाला शाकाहारी खाद्य पदार्थ देख रहे हैं, तो भी पालक एकदम फिट बैठता है। क्योंकि, १०० ग्राम पालक के अंदर २ .९ एमजी आयरन होता है। आयरन शरीर के अंदर हीमोग्लोबिन के उत्पादन में मदद करता है और टिश्यूज तक ऑक्सीजन लेकर जाता है।
विटामिन्स के हिसाब से भी पालक काफी पौष्टिक है। १०० ग्राम पालक में करीब २८ .१ एमजी विटामिन-सी होता है। जो आपकी स्किन को जवान बनाए रखता है और शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाकर बीमारियों से दूर रखता है। कई जगहों पर मालाबार पालक भी मिलता है।
आपकी आंखों की रोशनी कमजोर हो गई है, तो पालक को डाइट में शामिल करें। कैरोटेनॉइड्स भारी मात्रा में पालक के अंदर पाए जाते हैं। जो कि शरीर में जाकर विटामिन ए बन जाते हैं। १०० ग्राम पालक के अंदर ९ ,३७७ आईयू विटामिन ए होता है।
पालक खाने से क्या होता है?
पालक में अनगिनत पोषक तत्व होते हैं। यह शाकाहारी फूड विटामिन के1, फोलिक एसिड, मैग्नीशियम, पोटैशियम, ल्युटीन, नाइट्रेट्स आदि कई स्वास्थ्यवर्धक चीजें प्रदान करता है। जो कि निम्नलिखित बीमारियों के इलाज में मदद करते हैं।डायबिटीज,अस्थमा,हाई ब्लड प्रेशर, आदि
विद्यावाचस्पति डॉक्टर अरविन्द प्रेमचंद जैन संरक्षक शाकाहार परिषद् A2 /104 पेसिफिक ब्लू ,नियर डी मार्ट, होशंगाबाद रोड भोपाल 462026 मोबाइल ०९४२५००६७५३

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here