महावीर लिंब सेंटर द्वारा लगाया गाय के बछड़े को कृत्रिम पाँव

0
8

गाय को कृत्रिम पाँव लगाने का  यह पहला मामला

हुबली
पिछले दिनों धारवाड़ के नजदीक एक रेल एक्सीडेंट में गाय के बछड़े का पैर टूट गया जिसको इलाज के पश्चात विश्व हिन्दू परिषद् द्वारा संचालित गौशाला में लाके रखा गया, विहिप के पदाधिकारियो ने आल इंडिया जैन युथ फेडरेशन द्वारा संचालित महावीर लिंब सेंटर के पदाधिकारियों से संपर्क किया,  सेंटर के लिए यह एक नई चीज़ थी जिसको करने के लिए फेडरेशन के संस्थापक अध्यक्ष महेन्द्र सिंघी ने तकनीशियन टीम को कृत्रिम पाँव  बनाने के लिए आवश्यक दिशा  निर्देश दिए,  तकनीशियन एम् एच नायकर ने अभिनव नगर स्तिथ गौशाला जाकर गाय के बछड़े के टूटे हुए पाँव का नाप चौक लिया और पैर बनाया,
सोमवार को फेडरेशन के संस्थापक अध्यक्ष महेन्द्र सिंघी, चैयरमेन गौतम गोलेछा, सुनील भुरट, विहिप के उतर कर्नाटका प्रान्त कार्यदर्शी गोवेर्धन राव, महानगर कार्यदर्शी रमेश कदम, सह कार्यदर्शी विजय क्षीरसागर, सेवा प्रमुख सुभाष डंक, आनंद संगम ने गाय के बछड़े को पैर लगाया, जिसके पश्चात गाय के बछड़े को चलाने का प्रयाश किया जोकि धीरे धीरे चलकर चहलकदमी की जिसको देखकर सभी ख़ुशी व्यक्त की,
फेडरेशन के अध्यक्ष महेन्द्र सिंघी ने बताया की गाय को कृत्रिम पाँव लगाने का कार्य देशभर में अपने आप में प्रथम बार किया गया है, यह हम  सभी के लिए ख़ुशी का विषय है, लिंब सेंटर द्वारा पिछले 25 वर्षो में मानव सेवा के तहत दक्षिण भारत के अनेक राज्यों में शिविरों के माध्यम से 51000 से अधिक दिव्यांगों को कृत्रिम पाँव प्रदान कर उनको स्वावलम्बी बनाया गया है साथ ही आज  हम सभी पदाधिकारियों के लिए अत्यंत ही गर्व का विषय है की मानव सेवा  गौ माता की सेवा करने का पुण्य कार्य हुआ है, मानव सेवा के साथ प्राणी सेवा करने का जो कार्य हुआ है इससे हमे बहुत ख़ुशी हुई है,
विहिप के उतर कर्नाटका प्रान्त कार्यदर्शी गोवेर्धन राव ने  कहा की महावीर लिंब सेंटर द्वारा रेलवे अपघात में गाय के बछड़े का पाँव टूटने पर बछड़े को तड़फते हुए देखा नहीं जा रहा था, हमने इसके लिए अनेक पशु चिकित्षको से संपर्क किया परन्तु इसका उपचार नहीं मिला फिर हमने महावीर  लिंब सेंटर के पदाधिकारियों से संपर्क किया जिन्होंने आज कृत्रिम पाँव बनाकर गाय के बछड़े को लगाया जिसको पाकर बछड़े ने चलकदमी शुरू की जिसको देखकर हम सभी को संतुष्टि प्राप्त हुयी
इस अवसर पर विहिप पदाधिकारियों ने महेन्द्र सिंघी, व् गौतम गोलेछा को सम्मानित कर आभार जताया
विहिप सेवा प्रमुख, महावीर लिंब सेंटर के कन्वेनर सुभाष डंक ने बताया की गाय और उसका बछड़ा रेलवे ट्रैक पर चल रहे थे इस इस दौरान सामने से आ रही ट्रैन एक्सीडेंट में गाय की मोके पर ही मोत हो गयी और बछड़े का पिछला पैर कट हो गया जिसका धारवाड़ में उपचार के पश्चात हुबली लाया गया
इस दौरान विहिप महानगर कार्यदर्शी रमेश कदम ने सभी का आभार जताया

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here