लालकिला मैदान में मनाया गया भव्य विश्व मैत्री क्षमा दिवस समारोह

0
267

नई दिल्लीः राजधानी दिल्ली के ऐतिहासिक लाल मंदिर के सामने लालकिला मैदान के भव्य पंडाल में अनेक संतों के सान्निध्य में क्षमावाणी विश्वमैत्री दिवस के रूप में मनाई गई। समारोह की मुख्य अतिथि केंद्रीय मंत्री श्रीमती स्मृति इरानी से सभी संतों को भावभीनी विनयांजली अर्पित करते हुए कहा कि क्षमा और अहिंसा कमजोर की निशानी नही हैं, जो निडर, सहनशील, विवेकशील और नियंत्रण में है, क्षमा और अहिंसा उसी के श्रृंगार हैं।

उन्होने भगवान महावीर के 2023 से 24 तक मनाए जाने वाले 2550वें निर्वाण महोत्सव के लोगो का लोकार्पण किया और आश्वासन दिया कि सरकार उसमें पूरा सहयोग करेगी। राज्यमंत्री जान बल्लभ ने विनयांजली अर्पित करते हुए कहा कि वे समाज की संस्कृति, भाषा, शिक्षा के विकास में सहयोग के लिए समर्पित हैं। सांसद मनोज तिवारी ने भगवान महावीर पर स्वरचित गीत सुनाकर कहा कि वर्तमान को वर्धमान की आवश्यकता है, महावीर के संदेश को हम विश्व भर में फैलाएंगें।

परमार्थ निकेतन ऋषिकेश के अध्यक्ष स्वामी चिदानंद जी ने कहा कि भगवान महावीर का 2550वां निर्वाणोत्सव केवल जैनो को ही नही हम सबको मनाना है। हम गंगा आरती की तरह भगवान महावीर की भव्य आरती का आयोजन भी करेगें। आचार्य प्रज्ञसागरजी महाराज ने कहा कि संस्कारों से ही व्यक्ति महान बनता है।

भगवान महावीर ने अहिंसा को स्थापित किया उनके संदेशों को जन-जन तक पहुंचाना है। आज की सभी समस्याओं का समाधान महावीर हैं। आचार्य श्रुतसागरजी ने कहा कि जहां अहिंसा की प्रतिष्ठा हो जाती है वहां बैर-भाव समाप्त हो जाता है। क्षमा तो हमारे कण-कण में बसी है। आचार्य विमर्शसागरजी ने कहा कि महावीर ने मानव को जीने के सूत्र दिए, उन्हे विश्व भर को बताना है। क्षमा मानव की शान और प्राण है।

श्री विकास मुनि ने कहा कि मैत्रीभाव के बिना विकास नही हो सकता। साध्वी सूर्याजी ने कहा कि क्षमा के कारण ही वर्धमान महावीर बने। हमें दूसरों के हृदय को जीतना है। आचार्य विभक्त सागरजी, मुनि विभंजन सागरजी, प्रथमानंदजी, शुभसागरजी, आर्यिका पदमनंदनी माताजी, मूडबद्री के भट्टारक चारूकीर्ति स्वामीजी, जगदगुरू स्वामी रवींद्र कीर्ति जी ने भी क्षमा के महत्व पर बल देते हुए 2550वां निर्वाण महोत्सव मिलजुलकर भव्यता से मनाने पर जोर दिया। रक्षामंत्री राजनाथ सिंह का संदेश पढकर सुनाया गया।

समारोह का आयोजन लवकुश रामलीला कमेटी, प्राचीन अग्रवाल दिगंबर जैन पंचायत, अ.भा.भगवान महावीर निर्वाणोत्सव समिति, दि. जैन समाज सूरजमल विहार ने मिलकर किया। लव कुश रामलीला कमेटी के अध्यक्ष अर्जुन कुमार ने संतों को विनयांजली अर्पित करते हुए घोषणा की कि प्रतिवर्ष इसी स्थान पर रामलीला के पंडाल में क्षमावाणी मनाएंगें। उपाध्यक्ष सत्यभूषण जैन ने सभी का आभार व्यक्त किया। समारोह में जैन समाज दिल्ली के अध्यक्ष चक्रेश जैन, पवन गोधा, राजनेता सत्यनारायण जटिया, श्याम जाजू, सुभाष जैन-जज, मनोज जैन, राम मंदिर अयोध्या का केस लडने वाले एडवोकेट विष्णु शंकर जैन, सुदर्शन चैनल के सुरेश चव्हाण आदि गणमान्य व्यक्तियों ने सभी संतों को विनयांजली अर्पित की। महिला मंडल द्वारका ने प्रेरक गीत प्रस्तुत किया। संचालन राजेश जैन चेतन ने किया। समारोह में हजारों श्रद्धालु उपस्थित थे।
प्रस्तुतिः रमेश जैन एडवोकेट नवभारत टाइम्स नई दिल्ली

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here