कुंद-कुंद भारती में आचार्य श्री श्रुतसागरजी का दीक्षा दिवस समारोह

0
140

नई दिल्लीः कुंद-कुंद भारती में श्वेतपिच्छाचार्य श्री विद्यानंदजी मुनिराज के पट्टाचार्य शिष्य आचार्य श्री श्रुतसागरजी महाराज का 36 वां दीक्षा दिवस समारोह 12 मार्च को जैन युवा संगठन के तत्वावधान में भव्य समारोह में मनाया गया। बालिकाओं द्वारा मंगलाचरण, ध्वजारोहण, चित्र अनावरण, दीप प्रज्वलन के बाद आचार्य श्री का अष्टद्रव्य से पूजन तथा पाद प्रक्षालन किया गया। समारोह में मुनि श्री अनुमान सागरजी व क्षुल्लक अविरल सागरजी भी विराजमान थे। सभी संतों को शास्त्र एवं क्षु्ल्लक जी को वस्त्र भेंट किए गए।

इस अवसर पर दिगंबर जैन नैतिक शिक्षा समिति के अध्यक्ष वयोवृद्ध प्रमुख समाजसेवी, राजधानी एवं एनसीआर के लाखों बच्चों को संस्कारित कराने वाले श्री धनपाल सिंह जैन-दरियागंज को जैन युवा संगठन के द्वारा लाइफ टाइम एचीवमेंट अवार्ड से सम्मानित किया गया। उन्हे तिलक, माल्यार्पण के बाद शाल ओढाकर तथा प्रशस्ति पत्र भेंटकर सम्मानित किया गया। इस अवसर मौजूद नैतिक शिक्षा समिति के पदाधिकारी एवं कार्यकर्त्ता सर्वश्री पदम प्रसादजी-सुप्रीम हौजरी,
सुरेंद्रपालजी, जंबूप्रसादजी, प्रदीप जैन, प्रवीन जैन-सांध्य महालक्ष्मी, सुभाषचंदजी, मनोज जैन, नवीन जैन-कैलाशनगर, राकेश जैन, नवीन जैन-ऋषभ विहार, नरेंद्र जैन-साडी वाले, सतेंद्र जैन, ऋषभ जैन, विपिन जैन-दरियागंज, अशोक जैन-तरुण मित्र परिषद, रमेश जैन-नवभारत टाइम्स, पूर्व मेयर निर्मल जैन, जे के जैन-रोहिणी, रमेश चंद जैन-शाहदरा आदि सभी श्वेत टोपियों में समारोह को विशेष गरिमा प्रदान कर रहे थे।

आचार्य श्री ने अपने प्रवचन में कहा कि आज के समय में बच्चों को नैतिक शिक्षा प्रदान करना सबसे जरूरी और महत्वपूर्ण कार्य है। नैतिक शिक्षा ही जैन दीक्षा है। उन्होने समस्त समाज को भगवान महावीर का जन्मकल्याणक महोत्सव संगठित होकर भव्य रूप से मनाने की प्रेरणा दी। मुनि श्री अनुमान सागरजी ने भी बच्चों में नैतिक संस्कारों के लिए पाठशाला व शिविर लगाने पर जोर दिया। जैन समाज दिल्ली के अध्यक्ष चक्रेश जैन, कुंद-कुंद भारती के अध्यक्ष- सतीश जैन,
महामंत्री- अनिल जैन, पुनीत जैन-मैनेजर लाल मंदिर, डा. वीर सागर जैन, प्रवीन जैन, अनंत जैन-बीडीएमपी, कुलदीप जैन आदि गणमान्य व्यक्तियों ने संतों को विनयांजली अर्पित की।

संघपति राजेंद्र जैन ने भगवान महावीर की जन्मस्थली कुंडपुर वैशाली चलने की प्रेरणा देते हुए बताया कि वहां आसपास के अजैन बंधु बडी संख्या में पूरी श्रद्धा-भक्ति से दर्शन करने आते हैं। धनपालसिंह जैन ने शिविरों के आयोजन में समाज के सहयोग के लिए आभार व्यक्त किया। कईं जगह की समाज ने आचार्य श्री को श्रीफल भेंटकर चातुर्मास की प्रार्थना की। जैन युवा संगठन के पदाधिकारियों सर्वश्री जिनेंद्र कुमार जैन, अंकुर जैन, दीपक जैन, संजीव जैन-मून, मनोज जैन, अनुभव जैन, अरविंद जैन, आशीष जैन, राकेश जैन आदि ने सभी अतिथियों का भावभीना स्वागत किया। संचालन अतुल जैन व विवेक जैन ने किया। संजय जैन एंबैसी म्यूजिकल ग्रुप ने प्रेरक भजन प्रस्तुत किए।

प्रस्तुतिः रमेश चंद्र जैन, एडवोकेट 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here