जो लोग कान के कच्चे होते हैं वह लोग आगम के अच्छे शुत्र को छोड़ देते हैं: आचार्य श्री प्रमुख सागर

0
87
गुवाहाटी : भगवान महावीर धर्म स्थल में ससंघ  विराजमान आचार्य श्री प्रमुख सागर महाराज
ने कहा कि संसार में सबके पास कान है । कान से सुनते सब है परन्तु  कान की बात पर ध्यान नहीं देते हैं ।जो लोग कान के कच्चे होते है, वो आगम के अच्छे
 सूत्र को छोड़ देते है।इसलिए तीर्थंकर की वाणी पर ध्यान दोगे,  उसी पर भरोसा करोगे तभी बेड़ा पार होगा। जिनेंद्र वाणी कहीं से भी स्वीकार करो वह तो मीठी ही है।आत्म हितकारी है ।  जब तक असत्य है तब तक आत्मा के स्वरूप का बोध  नहीं होता । चर्म चक्षुओं से जो दिखता, सब वस्तुएं विनाशी है ।जो आँखो दिखती नहीं वह आत्मा अविनाशी है ।साधु और श्रावक का मोक्ष मार्ग एक जैसा है।परन्तु श्रावक गृहस्थ धर्म से बंधा  होता है अतः उसके लिए आरंभी हिंसा,  उद्योगी हिंसा, विरोधी हींसा क्षम्य है । साधु सत्य महाव्रत का पालन करते हैं। और श्रावक सत्य  अणुव्रत का पालन करते हैं। इससे पूर्व आज आर एस एस के क्षेत्र प्रचारक हुलास कुलकर्णी एवं आर एस एस के कार्यकर्ता मनोज सिंह आचार्य श्री के दर्शनाथ पहुंचे। आचार्य श्री ने श्री कुलकर्णी को अपना आशीर्वाद प्रदान किया एवं कई विषयों पर चर्चा की तथा जेल परिसर में बन रहे पार्क का भ्रमण किया। आचार्य श्री ने इस पार्क का नाम भगवान महावीर के नाम पर रखने का अनुरोध किया।। यह जानकारी प्रचार प्रसार विभाग के मुख्य संयोजक ओम प्रकाश सेठी एवं सह संयोजक सुनील कुमार सेठी द्वारा दी गई हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here