भगवान श्री धर्मनाथ जी का मोक्ष कल्याणक- विद्याचस्पति डॉक्टर अरविन्द प्रेमचंद जैन, भोपाल

0
216

धर्म के आलोक से विश्व को आलोकित करने वाले पन्द्रहवे तीर्थन्कर श्री धर्मनाथ जी का जन्म माघ शुक्ल त्रतीया के दिन रत्नपुर के राजा भानु की पटटमहिषी सुव्रतादेवी की रत्न्कुक्षी से हुआ | प्रभु के जन्म से धरा पर सर्वत्र हर्ष , आनन्द और शान्ति का सन्चार हुआ | पुत्र के युवावस्था मे प्रवेश करने पर माता -पिता ने अनेक राजकन्याओ के साथ उनका विवाह सम्पन्न किया | भारी समारोह रच कर पिता ने धर्मनाथ को राजगद्दी पर प्रतिष्ठित किया | धर्मनाथ जी के धर्मशासन मे अधर्म का तमस सर्वथा विलीन हो गया |
कालान्तर मे राजपद का परित्याग कर माघ शुक्ल त्रयोदशी के दिन श्री धर्मनाथ जी ने प्रव्रज्या मे प्रवेश किया | प्रभु आत्मसाधना मे निमग्न होकर कर्म रुप अरियो का हनन करने लगे | मात्र दो वर्ष की अवधि मे कर्म रिपुओ को प्रास्त कर पौष शुक्ल पुर्णिमा के दिन प्रभु केवली बने | धर्मतीर्थ की स्थापना कर तीर्थन्कर कहलाए |
अरिष्ट आदि तेतालीस प्रमुख शिष्य प्रभु के गणधर थे | प्रभु के धर्म – परिवार मे चौन्सठ हजार श्रमण , बासठ हजार चार सौ श्रमणिया ,दो लाख चवालीस हजार् श्रावक एवम चार लाख तेरह हजार श्राविकाए थी | पान्चवे वासुदेव पुरुषसिन्ह एवम बलदेव सुदर्शन प्रभु के अनन्य उपासक थे | ज्येष्ठ शुक्ल पन्चमी के दिन सम्मेद शिखर पर्वत से प्रभु ने निर्वाण प्राप्त किया | तीसरे चक्रवर्ती मघवा एवम चौथे चक्रवर्ती सनत्कुमार भी प्रभू धर्मनाथ के शासन -काल मे ही हुए |
भगवान के चिन्ह का महत्व
वज्र –
धर्मनाथ तीर्थंकर का चिन्ह वज्र है | वज्र इन्द्र देव का शस्त्र है इसलिए इन्द्र को वज्रपाणि कहा जाता है | वज्र कठोरता का प्रतीक है | वज्र से हमें यह शिक्षा मिलती है कि कष्टों में भी वज्र के समान द्रढ रहना चाहिए | धर्म पालन में द्रढ रहना चाहिए | अज्ञान , मोह और मिथ्यात्व पर वज्र प्रहार करने से ही सच्चे धर्म की प्राप्ति होती है | धर्मनाथ भगवान का चिन्ह धर्म-मार्ग पर वज्र की तरह द्रढ होकर अग्रसर होने की प्रेरणा देता है |
जेठशुकल तिथि चौथ की हो, शिव समेद तें पाय |
जगतपूज्यपद पूजहूँ, पूजौं हो अबार ||धरम0
ॐ ह्रीं ज्येष्ठशुक्ला चतुर्थ्यां मोक्षमंगलप्राप्ताय श्रीधर्म0जि0अर्घ्यं निर्व०
विद्याचस्पति डॉक्टर अरविन्द प्रेमचंद जैन,संरक्षक शाकाहार परिषद A2 /104  पेसिफिक ब्लू ,नियर डी मार्ट ,होशंगाबाद रोड, भोपाल 462026  मोबाइल ०९४२५००६७५३

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here