ऑडियोविजुअल हेरिटेज —- विद्यावाचस्पति डॉक्टर अरविन्द प्रेमचंद जैन भोपाल

0
122

ऑडियोविजुअल हेरिटेज के लिए 2023 विश्व दिवस 27 अक्टूबर को “आपकी खिड़की दुनिया के लिए” थीम के तहत मनाया जाएगा।
1980 में आयोजित 21वें संयुक्त राष्ट्र आम सम्मेलन के दौरान ऑडियो-विजुअल के लिए उठाये गये कदमों को याद करने के लिए हर साल विश्व ऑडियो विजुअल विरासत दिवस के रूप में मनाया जाता है. ऑडियो-विजुअल महत्व के बारे में लोगों के बीच सामान्य जागरूकता बढ़ाने का एक महत्वपूर्ण सालाना अवसर है.
इस दिवस को मनाने को उद्देश्य प्रत्येक व्यक्ति को दृश्य-श्रव्य ध्वनियों के प्रति जागरूक बनाना है। दृश्य श्रव्य दस्तावेजों के महत्व को राष्ट्रीय पहचान के एक अभिन्न अंग के रूप में स्वीकार करने पर केंद्रित करना है।
ऑडियो-विज़ुअल हेरिटेज हर साल दुनियाभर में 27 अक्टूबर को मनाया जाता है। अभिलिखित ध्वनि और दृश्य-श्रव्य दस्तावेजों के महत्व और उनके संरक्षण के बारे में लोगों में जागरूकता बढ़ाना इस दिन को मनाने का खास उद्देश्य है। जिसका आयोजन यूनेस्को द्वारा किया जाता है।
संयुक्त राष्ट्र शैक्षिक वैज्ञानिक और सांस्कृतिक संगठन द्वारा फिल्म टीवी रेडियो फोटो प्रिंट की तरह दृश्य श्रव्य मीडिया विरासत की रक्षा करने के मकसद से 27 अक्टूबर 2005 को विश्व ऑडियोविजुअल विरासत दिवस मनाने का निर्णय लिया गया था।
इंदिरा गांधी राष्ट्रीय कला केंद्र में भारत का पहला राष्ट्रीय सांस्कृतिक दृश्य श्रव्य अभिलेखागार बनाया गया है जिसमें भारत की अलग-अलग सांस्कृतिक और कला का ऑडियो और विजुअल्स को ऑनलाइन संग्रह किया जा रहा है। इसका मकसद भारत में मौजूद सांस्कृतिक विरासत की पहचान कर उन्हें ऑडियो विजुअल माध्यम से संग्रहित करना है।
उद्देश्य
इस दिवस को मनाने को उद्देश्य प्रत्येक व्यक्ति को दृश्य-श्रव्य ध्वनियों के प्रति जागरूक बनाना है। दृश्य श्रव्य दस्तावेजों के महत्व को राष्ट्रीय पहचान के एक अभिन्न अंग के रूप में स्वीकार करने पर केंद्रित करना है।
इस दिन उन दृश्य-श्रव्य संरक्षण पेशेवरों और संस्थानों को सम्मानित किया जाता है जो भविष्य की पीढ़ियों के लिए विरासत को संरक्षित करते हैं। कई तरह के कार्यक्रमों का भी आयोजन होता है जिसमें इस दिन को बढ़ावा देने के लिए प्रतियोगिताएं भी होती हैं।
अपने आसपास स्थित ऐतिहासक यात्रा पर जब भी जाएं उससे जुड़ी फोटोज़, वीडियोज़ और जरूरी जानकारियों की छोटी-छोटी क्लिप बनाकर सोशल मीडिया पर अपलोड करें तो एक बहुत ही अहम योगदान होगा। इससे बिना जाए भी लोग सुनकर और देखकर उन जगहों के बारे में जान पाएंगे।
विद्यावाचस्पति डॉक्टर अरविन्द प्रेमचंद जैन संरक्षक शाकाहार परिषद् A2 /104 पेसिफिक ब्लू ,नियर डी मार्ट, होशंगाबाद रोड, भोपाल 462026 मोबाइल ०९४२५००६७५३

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here