अपनी इच्छाओं को रोकना ही तप आर्यिका 105 प्रतिभा मति माताजी

0
103

10 सितंबर रविवार को अतिशेष क्षेत्र तेंदूखेड़ा दमोह मध्य प्रदेश मुनि भक्त पुण्यांशी जैन ने बताया
सोलह कारण महामंडल विधान के सातवे रोज अपार भक्तों को संबोधित करते हुए माता ने बताया अपने कर्म की निर्जला करने हेतु इच्छाओं का निरोध करके तब करना चाहिए
आगे चलकर हम भी अपनी आत्मा का कल्याण कर सिद्ध अवस्था को प्राप्त हो सके ऐसा गुरु माता अपने संबोधन में बताया

महावीर कुमार जैन सरावगी जैन गजट संवाददाता नैनवा जिला बूंदी राजस्थान

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here