आयिका बाल योगिनी विशेष मति माता का 16 दीक्षा दिवस में अपार जैन बंधु उमड़े महावीर कुमार जैन सरावगी नैनवा

0
60

जयपुर जनकपुरी ज्योति कॉलोनी 24 अक्टूबर सोमवार
वर्षा योग कर रहे दिगंबर जैन मंदिर में गणिनी आयिका विशेष मति माता का 16 दीक्षा दिवस एवं भक्तामर मंडल विधान का अपार धर्म प्रभाव से संपन्न हुआ
समारोह में जिला कोटा/ जिला बूंदी माधोपुर /नैनवा /चौथ का बरवाड़ा /गोठड़ा /रानीपुरा /जयपुर शहर आसपास की कालोनियां भक्तों ने पहुंचकर बहुत धर्म लाभ प्राप्त किया

गणिनी आयिका विशुद्ध मति माताके चित्र का अनावरण जैन गजट के संवाददाता एवं बाहर से पधारे कोटा से आए अतिथियों द्वारा किया गया
, समिति के अध्यक्ष पदम बिलालामंत्री देवेंद्र कासलीवाल /राजेश गंगवाल /सुनील सेठी /विनय सेठी /मयंक पाटनी/ ज्ञानचंद पहुंच /शोभाग अजमेरा/ आदि ने बाहर से पधारे अतिथियों का स्वागत सम्मान तिलक माला पहनाकर किया
द्वारा
जयपुर शहर की बालिका ने मंगलाचरण की प्रस्तुति नृत्य करके द बहुत ही अच्छे मनभावन प्रस्तुति दी

भक्तांबर विधान में 41 जोड़ने भाग लेकर धर्म लाभ प्राप्त किया
दीक्षा जयंती के उद्बोधन में जैन गजट के संवाददाता महावीर सरावगीनै बताया कि वह जीव बहुत ही पुण्यशाली है जो ऐसे अवसर पर समय निकालकर धर्म लाभ लेने पहुंचते हैं आयिका विशेषमति माता का नैनवा में दो बार वर्षा योग ऐतिहासिक चातुर्मास संपन्न हुआ
आयिका माता जी को शास्त्र भेंट नरेंद्र सेठी परिवार
वस्त्र भेट राजकुमार सुनीता सेठी दोनों ब्रह्मचर्य दीदीयो को भी वस्त्र भेंट किया
पाद पक्षालन नरेश महिमा सेठी
बाहर से पधारे स्थानीय भक्तों ने माता जी की पूजन अष्ट द्रव्य सामग्री से सब ने नृत्य करते हुए बारी-बारी से की समारोह में जयपुर शहर के सभी जिनालय के पदाधिकारी माता का आशीष लेने पहुंचे

आयिका विशेषमति माता ने अपने उद्बोधन में भक्तों को बताया
पुन्य की नीव पाताल तक गहरी रहती है सदा ही हरी भरी रहती है
भक्तामर स्तोत्र में इतनी शक्ति थी कि मांगीं तुंगी मुनि को 48 तालों में राजा ने बंद करने पर स्मरण करने मात्र से ताले टूट कर मुनि बाहर आ गए
राजा नत मस्तक हो मुनि के चरणों में गिरकर क्षमा याचना करने लगा ऐसा प्रभाव भक्तामर स्तोत्र के मंत्र के विधान का है जो भव भव तक जीव को आत्मा को शांति प्रदान एवं परिवार में मंगल ही मंगल करता है
आयिका16वा दीक्षा दिवस पर सभी भक्तों को अपना मंगल आशीर्वाद देते हुए कहा कि सदैव धर्म मार्ग पर आगे बढ़ते रहना यह जीवन का सबसे बड़ा आपका लक्ष्य होना चाहिए
धर्म से बड़ा सच्चा मित्र व पाप से बड़ा कोई शत्रु नहीं है ऐसा माता ने बताया

महावीर कुमार जैन सरावगी जैन गजट संवाददाता नैनवा जिला बूंदी राजस्थान

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here