आचार्य शंशाक सागर जी महाराज के पावन सानिध्य में ग्रीष्म क़ालीन श्रमण संस्कार शिविर का हुआ भव्य शुभारंभ

0
26

संस्कारो की एबीसीडी में ए फॉर आदिनाथ-

आचार्य शशांक सागर जी

फागी संवाददाता

जयपुर – जनकपुरी ज्योति नगर में केसरिया दुपट्टे , सिर पर टोपी , गुरु का सानिध्य , रंगीन ग़ुब्बारों से सजा हाल , सीखने व सिखाने की पिपासा के माहोल के साथ श्री दिगंबर जैन श्रमण संस्कृति संस्थान सांगानेर के अंतर्गत‌ संचालित संत श्री सुधासागर आवासीय कन्या महाविद्यालय के तत्वावधान में आयोजित पंद्रह दिवसीय श्रमण संस्कृति संस्कार शिक्षण शिविर का भव्य शुभारंभ 15 मई बुधवार को संयम भवन में हुआ ।मन्दिर समिति के अध्यक्ष पदम जैन बिलाला ने बताया कि संस्थान से पधारी विदुषियों – नेन्सी , प्रिंसी , आराध्या व सौम्या के नमोकार व बंदना से शुरू हुए कार्यक्रम में दीप प्रज्वलन महेश नीना काला ने किया तथा मंगलाचरण निकिता , प्रियंका , रूबल , कणिका व प्रिया द्वारा किया गया । विदुषियों का परिचय बालिका महाविद्यालय की ट्रस्टी दीपिका जैन बिलाला ने दिया तथा संस्थान के ही प्रदीप जैन शास्त्री ने शिविर की आवश्यकता के बारे में बताया । वरिष्ठ विद्यार्थी जे के जैन व सभी का सम्मान संयोजक सुरेश शाह राजेंद्र ठोलिया ,अनीता बिंदायक्यI वमिश्री लाल काला आदि द्वारा किया गया ,आचार्य श्री शशांक सागर जी ने आचार्य श्री विद्या सागर जी को याद करते हुए कहा कि उनके आशीर्वाद व पूंगल मुनि सुधा सागर की प्रेरणा से स्थापित बालिका महाविद्यालय ने विदुषियाँ तैयार कर प्रेरक आयाम स्थापित किए है आज संस्कारो की नयी ए बी सी डी सिखाने की आवश्यकता है । इधर विदुषी नैन्सी ने सभी को विश्वास दिलाया कि वे विद्यार्थियों की अपेक्षा पर खरी उतरेंगी ।आज से शिविर में बाल संस्कार , सिद्धांत प्रवेशिका , इष्टोपदेश , द्रव्य संग्रह व छहढाला की कक्षायें शुरू की गई है जिनमें आठ से अस्सी साल के सो से भी अधिक विद्यार्थीयो ने स्वाध्याय शुरू किया है ।

राजाबाबू गोधा जैन गजट संवाददाता राजस्थान

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here