48 मण्डल पर जयपुर की 48 कालोनियों से आया भक्तों का सैलाब

0
12

जयपुर -8 फरवरी -अखिल भारतवर्षीय धर्म जागृति संस्थान प्रांत राजस्थान के तत्वावधान में संघीजी के मन्दिर सांगानेर में अतिशयकारी भगवान आदिनाथ के दरबार में जैन धर्म के प्रथम तीर्थंकर के निर्वाणोत्सव के शुभ अवसर पर आचार्य वसुनंदी महाराज के आशीर्वाद से 2304 दीपकों से 48 मंडलीय श्री भक्तामर दीप महाअर्चना का भव्य आयोजन दीपोत्सव के रूप में हुआ ,संस्थान के पदाधिकारियों द्वारा अतिशयकारी मूल नायक भगवान आदिनाथ के समक्ष श्रीफल भेंट कर मुख्य मण्डल पर मंत्रोचार के साथ संस्थान के प्रांतीय अध्यक्ष पदम जैन बिलाला ने कपूर चंद कसेरा परिवार के साथ मंगल कलश स्थापित किया। साथ ही सभी 48 मण्डलों पर पुण्यार्जकों द्वारा भी विधि विधान पूर्वक मंगल कलश स्थापित किये गये , भक्तामर का शुभारम्भ मंगला चरण के साथ हुआ । जिसके बाद प्रत्येक मण्डल से इंद्र भक्ति के साथ ग्रुप में आये व मुख्य मण्डल पर दीपक चढ़ाया ,धर्म जागृति संस्थान के कार्याध्यक्ष अनिल जैन व महामंत्री सुनील पहाड़िया ने बताया कि इस दीप अर्चना में 48 मण्डल पर जयपुर की 48कालोनियों के परिवार दूर दूर से पधारें तथा अर्चना की संगीतमय प्रस्तुति श्री विद्या सागर यात्रा संघ के मनीष चौधरी एवम् साथियों द्वारा की गई,संस्थान के राजीव लाखना, पंकज लुहाड़िया के अनुसार कार्यक्रम में मुख्य अतिथि शान्तिकुमार ममता सोगानी, विशिष्ट अतिथि कांता रश्मि कांत सोनी ,दीप प्रज्जवलन कर्ता कपूर चंद कसेरा परिवार का संस्थान के पदाधिकारियो ने स्वागत किया ,धर्म जागृति संस्थान के मुख्य उद्देश्य में सहयोगी साधु सन्त के विहार के समय रास्तो में प्रवास हेतु सन्त भवन आदि कार्यों में सहयोग कर्ताओं का राष्ट्रीय महामंत्री भूपेन्द्र जैन दिल्ली तथा प्रचार मंत्री संजय बडजात्या कामा आदि द्वारा सम्मान किया गया । जिसमे श्री क्षेत्र भंडाना के पुण्यार्जक परिवार तथा हीरा पथ मानसरोवर मन्दिर की समिति एवं चातुर्मास में सहयोगी राजीव गाजियाबाद व गजेंद्र बडजात्या आदि द्वारा किए कार्यों की बहुत बहुत अनुमोदना व प्रशंसा की गई ,कार्यक्रम में आचार्य विद्यासागर जी महामुनिराज व आचार्य वसुनंदी जी महाराज सहित सभी संतों के उत्तम स्वास्थ्य हेतु जाप्य कर भावना भायी गई ,प्रांतीय अध्यक्ष पदम जैन बिलाला ने मण्डल पुण्यार्जकों व पधारे सभी श्रावकों का आभार व्यक्त किया ।कार्यक्रम का अति सुंदर संचालन प्रचार संयोजक विनोद जैन कोट्खावदा द्वारा किया गया।श्री बिलाला ने सहयोग के लिए संघी जी मन्दिर के मंत्री नरेन्द्र पाण्डया सहित प्रबंध समिति व स्टाफ को धन्यवाद दिया ,इधर संघी जी मन्दिर के मन्त्री ने धर्म जागृति संस्थान के इस विशुद्ध रूप से धर्म प्रभावना कार्यक्रम जिसमे सभी आडम्बरों से दूर रहा गया व इस शीत लहर में भी इतनी तादाद के साथ व्यवस्थित व प्रभावी कार्यक्रम आयोजन के लिए संस्थान को धन्यवाद दिया ,कार्यक्रम में संरक्षक ज्ञान चंद जैन बस्सी , ओमप्रकाश काला , प्रेम चंद छाबड़ा , राकेश मधोराजपुरा शैलेंद्र गोधा , एवं मनीष बैद ,मनोज झांझरी , जीतू गंगवाल , राजीव पाटनी , पवन पांड्या , शीला डोड्या ,भाग चन्द मित्र पुरा ,राकेश समता गोदिका ,सोभाग अजमेरा ,महेश काला ,रमेश बोहरा ,सूरज अजमेरा , नरेंद्र बज , सुरेश कासलीवाल , कमल दीवान आदि का सहयोग सराहनीय रहा ।साथ ही विद्या वसु पाठशाला के छात्रो , श्रमण संस्कृति संस्थान की बालिकाओं , जैन बैंकर्स फोरम के सदस्यों आदि की कार्यक्रम में सक्रिय भागीदारी रही । कार्यक्रम के बाद सभी मण्डल पर स्थापित मंत्रोचारित मंगल कलश पुण्यार्जकों को घर ले जाने हेतु दिया गया ।

राजाबाबु गोधा जैन गजट संवाददाता राजस्थान

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here