29 वर्षों के बाद जैन मुनि विश्रांत सागर महाराज ने बाल्यावस्था में शिक्षा स्थली कटनी में भव्य मंगल प्रवेश किया

0
12

महावीर कुमार जैन सरावगी जैन गजट संवाददाता नैनवा जिला बूंदी राजस्थान
18 जून मंगलवार 2024 कटनी शहर में गणाचार्य विराट सागर महाराज के परम पावन शिष्य प्रवचन केसरी विश्रांत सागर महाराज सत्संग की भव्य अगवानी गाजे बाजे रंगोली सजाकर जगह-जगह तोरण द्वार सजाकर दिगंबर जैन समाज ने जैन मुनि का भव्य मंगल प्रवेश दिगंबर जैन बड़े मंदिर में कराया

कटनी शहर में रास्ते में जगह-जगह पर पाद पक्षालन मुनि श्री की आरती
छोटे-छोटे नन्हे मुन्ने बालकों द्वारा जय जयकारों के साथ जैन मुनि को जिनालय में प्रवेश कराया
कि आज से 29 वर्षों पहले इसी पावन धरा कटनी के स्कूल में बाल्यावस्था में पढ़ाई की थी यह वह जगह है जहां से हमने संयम का ज्ञान प्राप्त कर दिगंबर अवस्था का मार्ग प्राप्त किया
मुनि ने बताया 4 वर्षों तक लगातार इसी कटनी की पाठशाला में बाल्यावस्था में हम स्टूडेंट के रूप में पढ़ाई की थी कटनी शहर में आना मुनि को बड़ा अच्छा लगा पूर्व एसडीएम कटनी वालों के घर पर आहार हुआ
मुनि ने छोटे-छोटे बच्चों को अपने दिव्य दर्शन में बताया कि
छात्र के रूप में जब तक तुम रहो सदैव गुरु के नजदीक ही रहना एम गुरु के विश्वास पात्र होने का एक प्रमाण बनाना यहां से छात्र का उज्जवल भविष्य की शुरुआत प्रारंभ होती है यह वह स्थान है जहां पर एक छोटे से पौधे को रोपण करके धीरे-धीरे एक वृक्ष का निर्माण का रूप दिया जाता है
उसे वृक्ष की छाया में आने वाला हर राहगीर रूकने का प्रयास कर और शीतलता को प्राप्त करता है
ऐसा मुनि ने छोटे-छोटे नन्हे मुन्ने बालकों को अपने आशीष में बताया
आप भीअपने माता-पिता के सपनों को साकार करना
महावीर कुमार जैन सरावगी जैन गजट संवाददाता नैनवा जिला बूंदी राजस्थान

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here