सिद्धक्षेत्र नैनागिरी में हुआ महिला सम्मेलन आचार्य श्री विरागसागर जी के सन्नी में हुआ आयोजन हुआ विचार मंथन -डॉ सुनील संचय

0
59
नैनागिर, छतरपुर। गणाचार्य श्री 108 विरागसागर जी महाराज के ससंघ सानिध्य में सिद्धक्षेत्र नैनागिरी में आयोजित पंचकल महोत्सव के जन्म कल्याणक के दिन महिला सम्मेलन का सफल कार्यक्रम सम्पन्न हुआ।
  कुमारी आस्था के भजन एवं रूबी सेठ और बहनों ने नृत्य मंगलाचरण प्रस्तुत कर कार्यक्रम को मंगल रूप प्रदान किया । कार्यक्रम का संयोजन एवं संचालन श्रीमती कामिनी जैन शाहगढ ने किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता न्यायमूर्ति  विमला जी जैन भोपाल , मुख्य अतिथि डॉक्टर बीनू जी लंदन, विशिष्ट अतिथि डॉक्टर आशा जैन जी सागर ,प्रमुख वक्ता विधि जैन इंदौर ,रानू जी पथरिया भक्तामर हीलर ,सीता जैन सुपरवाइजर, हिमांशी जी ,ममता जी ,खुशी, आशा सिंघई ,अर्चना बरायठा, रानी जैन थी ।
महिला सम्मेलन में संतो के आहार, बिहार एवं निहार में महिलाओं की भूमिका ,बच्चों की शिक्षा और संस्कार का समायोजन ,सास नमक  मां शक्कर क्यों लगती है ,बेटे एवं बेटी दोनों को घर के कार्यों में भागीदारी कैसे करें  पर विचार प्रस्तुत किये
गए।
आचार्यश्री एवं समस्त संघ ने स्वागत गीत से लेकर सभी बहनों के उद्बोधन को सुनकर काफी सराहा ।
नैनागिरी ,जो की 1008 श्री पार्श्वनाथ भगवान जी की देशना स्थली है जो तीर्थंकर बालक की मां है जगत जननी मां थी नर को नारायण बनाती है ,नारी के सम्मान में जन्म कल्याणक के दिन ,महिला सम्मेलन का आयोजन किया गया ।बप्रबंध कारणी समिति एवं न्यासमंडल नैनागिरी ने महिलाओं को प्रोत्साहित एवं प्रेरित किया।
आयोजन में सुरेश जैन जी आईएएस भोपाल, प्रतिष्ठाचार्य ब्र. जयकुमार निशांत, पंडित सनत कुमार विनोद कुमार जैन, राजेश रागी बक्सवाहा, देवेंद्र लुहारी आदि का मार्गदर्शन प्राप्त हुआ।
इस मौके पर न्यायमूर्ति विमला जैन जी ने कहा कि
हर धर्म में महिला शक्‍त‍ि को सर्वोच्‍च स्‍थान द‍िया गया है।  भारतीय संस्कृति में नारी के सम्मान को बहुत महत्व दिया गया है। यहां तक कहा जाता है कि जहां नारी की पूजा नहीं होती वहां देवताओं का वास नहीं होता।  नारी शिक्षित है तो वह अपनी संतान को अच्छी शिक्षा देकर एक योग्य एवं संपन्न व्यक्ति बना सकती है। महिलाएं जन्म से लेकर मृत्यु तक अपने सारे कर्त्तव्य निभाती है। वह एक माँ, पत्नी, बेटी, बहन आदि सभी रिश्तों को पूरे दायित्व और निष्ठा के साथ निभाती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here