पांडुक शिला पर बाल तीर्थंकर आदि कुमार का सौधर्म इंद्र ने किया जलाभिषेक

0
12

गुवाहाटी : फैंसी बाजार स्थित आदिनाथ नगर (जेल परिसर) में असम के राज्यकिय अतिथि आचार्य श्री प्रमुख सागर महाराज ससंघ एवं मुनि श्री अरिजीत सागर महाराज के पावन सान्निध्य में श्रीमद् 1008 जिनबिंब पंचकल्याणक प्रतिष्ठा महोत्सवम मे रविवार को जन्म कल्याणक महोत्सव मनाया गया। रात में गर्भ कल्याणक की क्रियाएं संपन्न हुई। जहां 56 कुमारियों ने माता की सेवा की और भेंट अर्पित की। वहीं 16 सपने दिखाई गए और महाराज नाभिराय के दरबार में तत्वचर्चा स्वप्न, फल, जिज्ञासा महाराज द्वारा सपनों का फलादेश बताया गया। पंचकल्याणक महोत्सव कि सभी क्रियाएं प्रतिष्ठाचार्य बा. ब्र.हंसमुख शास्त्री के निर्देशन में विधि विधान से संपन्न कर जा रही है। असम सरकार में कैबिनेट मंत्री अशोक सिंघल ने कार्यक्रम में पहुंचे कर आचार्य श्री प्रमुख सागर महाराज एवं मुनि श्री अरिजीत सागर महाराज का आशीर्वाद लिया।
पांडुक शिला पर हुआ अभिषेक : जनकल्याण के दिन विशाल जुलूस निकाला गया। जहां वगी पर बैठकर भगवान तीर्थंकर का भ्रमण हुआ। सौधर्म इंद्र ने तीर्थंकर को पाडुंक शिला पर ले जाकर शहस्त्र कलशो से जलाभिषेक किया। वही पालना का कार्यक्रम भी हुआ। जहां इंद्र और भारी जन समुदाय ने जन्म कल्याणक के दिन सौधर्म इंद्र, कुबेर इंद्र, यज्ञनायक इंद्र, ईशान इंद्र, सनत कुमार इंद्र, महेंद्र इंद्र, आदि के परिवार ने भक्ति की। 31 जिनबिम्बों की होगी प्रतिष्ठा: श्री सूर्य पहाड़ अतिशय क्षेत्र के अध्यक्ष महावीर जैन गंगवाल ने उक्त जानकारी देते हुए बताया कि इस पंचकल्याणक महोत्सव में मानस्तंभ तथा जिनालयों में विराजमान होने वाली 31 जिनबिम्बों की प्रतिष्ठा की क्रियाएं संपन्न कराई जा रही है। श्री सूर्य पहाड़ विकास समिति के मुख्य संयोजक ओमप्रकाश सेठी ने बताया कि 29 जनवरी सोमवार को तपकल्याणक के अवसर पर आदिकुमार का पानी- ग्रहण, राज्याभिषेक, राजतिलक आदि की प्रस्तुति, महाआरती एवं कवि सम्मेलन आदि कार्यक्रम किए जाएंगे। यह जानकारी पंचकल्याणक प्रचार प्रचार समिति द्वारा एक प्रेस विज्ञप्ति में दी गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here