“गुवाहाटी में होगा आचार्य प्रमुख सागर महाराज ससंघ का पावन वर्षायोग 2023

0
58

“जहां गहरी होती है प्यास, वहां होता है चातुर्मास”: प्रमुख सागर
गुवाहाटी : नगर के फैंन्सी बाजार स्थित भगवान महावीर धर्मस्थल मे विराजित आचार्य 108 श्री प्रमुख सागर महाराज ससंघ का 28वा चातुर्मास आज रविवार को कलश स्थापना के साथ हुआ। इस अवसर पर आचार्य श्री ने उपस्थित श्रद्धालुओं को संबोधित करते हुए कहा की जहां चतुर लोगों का वास होता है, वही चतुर्मास होता है। हिंसा की प्रवृतियां कीटाणुओ की वर्षा में ज्यादा होती है। इसलिए दिगंबर साधु एक जगह रुक कर चतुर्मास करते हैं। उन्होंने कहा कि वर्षा योग स्थापना के समय विधि-विधान पूर्वक व संकल्प के साथ मंगल कलश की स्थापना की जाती है। वर्षा योग समिति के मुख्य संयोजक ओम प्रकाश सेठी ने बताया की कार्यक्रम का शुभारंभ झूमरमल पन्नालाल गंगवाल परिवार द्वारा झंडा रोहण के साथ हुआ। तत्पश्चात कलश स्थापना की समस्त मांगलिक क्रियाएं बाल ब्रह्मचारिणी दीदी द्वारा संपन्न कराई गई। कार्यक्रम का शुभारंभ *समाज की महिलाओं द्वारा मंगलाचरण व बिहु नित्य से हुआ। तत्पश्चात उपस्थित अतिथियों ने *आचार्य पुष्पदंत सागर महाराज के चित्र का अनावरण कर दीप प्रज्वलित किया। इससे पूर्व आज प्रातः *श्री 1008 सिद्धचक्र महामंडल विधान के सातवें दिन श्रीजी का अभिषेक व शांतीधारा आचार्य श्री के निर्देशन में संपन्न हुआ। तत्पश्चात। विधान के इंद्र इंद्राणी सहित प्रमुख पात्रों द्वारा संगीतमय स्वर लहरियों के साथ पूजा अर्चना कर विधान के 512 अघ्य चढाए गए। इस धार्मिक अनुष्ठान के आयोजन पर बड़ी संख्या में भारतवर्ष से गुरु भक्त उपस्थित थे। इस आठ दिवसीय अष्टाहिंका महापर्व का समापन सोमवार को विभिन्न धार्मिक कार्यक्रमों के साथ होगा। समारोह मे सभी भक्तों के लिए वात्सल्य भोजन की व्यवस्था *झूमरमल पन्नालाल गंगवाल परिवार द्वारा कराई गई। यह जानकारी समाज के प्रचार प्रसार विभाग के मुख्य संयोजक ओम प्रकाश सेठी व सह संयोजक सुनील कुमार सेठी द्वारा एक प्रेस विज्ञप्ति द्वारा दी गई है।

सुनील कुमार सेठी
गुवाहाटी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here