आत्मनिर्भर जैन योजना सफल एवं महासभा के संगठन को मजबूत बनाने मे समाज का सहयोग चाहिए – अध्यक्ष गजराज जी जैन

0
225

महासभा का दो दिवसीय राष्ट्रीय अधिवेशन का विशेष सत्र दिनांक 21 जनवरी शनिवार के दिन प्रारंभ हुआ ।सर्वप्रथम महासभा की राष्ट्रीय उपाध्यक्षा ज्योति पाटणी नागपुर ने मंगलाचरण प्रस्तुत करने के पश्चात राष्ट्रीय महामंत्री प्रकाश बडजात्या ने समाज को महासभा की परिचय एवं योजनाओं की जानकारी दी। इस से प्रभावित होकर सभागृह में उपस्थित श्री अजय कुमार सुभाष चंद जैन योजना विहार दिल्ली ने महासभा चैरिटेबल ट्रस्ट के ट्रस्टी बनने हेतु एक लाख ग्यारह हजार ग्यारसो ग्यारह रुपए राशी की स्वीकृति देकर सदस्यता ग्रहण की ।

उसी समय उनका राष्ट्रीय अध्यक्ष के कर कमलों द्वारा सम्मान किया गया। तत्पश्चात तीर्थ संरक्षिणी महासभा के राष्ट्रीय वरिष्ठ कार्याध्यक्ष श्री एम के जैन चेन्नई द्वारा प्राप्त पत्र का वाचन डी यु जैन ने किया,। राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डी ए पाटिल सांगली ने दो प्रस्ताव रखें (1) महासभा के प्रान्त सदस्यता (आजीवन) की फीस तीनसो से बढ़ाकर ₹ग्यारहसो कि जाए(2) मंदिर तथा समाज के सामाजिक संस्थाओं के सदस्यता के लिए रुपए पाच हजार एक सो रुपए की राशि रखी जाए। जिसे महाराष्ट्र के धर्म संरक्षिणी महासभा के कार्याध्यक्ष देवेंद्र काला ने अनुमोदन दिया । सभागृह ने तालियों के साथ समर्थन देकर ठहराव को पारित किया। और देखते देखते 25 मंदिरों ने सदस्यता स्वीकार की।

तत्पश्चात राष्ट्रीय अध्यक्ष गजराज जी गंगवाल ने चारों सत्रों का समापन करते हुए अधिवेशन मे आए हुए सभी सुझाओ का जवाब देकर सुझाव कर्ताओं का समाधान किया। महासभा की ओर से विविध योजनाओं को साकार रूप देने के लिए समाज को आह्वान किया। तत्पश्चात उन्होंने आत्म निर्भर जैन योजना तथा कन्या विवाहसहयोग योजना की विस्तृत जानकारी सभागृह को दी और कहा कि जिस दिन जैन समाज का निर्धन, मध्यमवर्गीय के कुटिया में खुशियों के दिप जल जाएंगे उस दिन हमारे सपने साकार होगे। आत्म निर्भर जैन योजना के अंतर्गत 20 जरूरतमंद को ₹20000 की राशि का चेक देकर उन्होंने आत्मनिर्भर योजना का शुभारंभ किया ।

महाराष्ट्र धर्म संरक्षिणी महासभा के अध्यक्ष डि यु जैन मुंबई ने तथा महासभा के राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष पवन गोधा दिल्ली ने आभार प्रकट किया । अधिवेशन सफल बनाने में श्री मुनीसुव्रत नाथ दिगंबर जैन अतिशय क्षेत्र पैठण के अध्यक्ष महावीर बडजाते ,महामंत्री विलास पहाड़े एवं सभी कार्यकारिणी सदस्यों का विशेष योगदान रहा, जिनका गजराज जी गंगवाल ने अभिनंदन किया उसी प्रकार गजराज जी गंगवाल एवं प्रकाश जी बड़जात्या ,डी यु जैन ने महाराष्ट्र में पैठण क्षेत्र पर महासभा का विशाल राष्ट्रीय अधिवेशन आयोजित कर कर महासभा की जो गरिमा बढ़ाई,अधिवेशन को चार चांद लगाए उस में विशेष योगदान देने वाले देवेंद्र काला ,महावीर ठोले एवं अनूप पाटनी का शाल, श्रीफल देकर सम्मान किया । अधिवेशन में महाराष्ट्र प्रांत से सभी संभागों से भारी संख्या में अनेक पदाधिकारी एवं सदस्य, पैठण की महिला मंडल, नवयुवक मंडल,स्कुल का स्टाफ, औरंगाबाद की महिला मंडल की गरिमा मयी उपस्थिती रही।

अधिवेशन आनेवाले सभीका तिलक लगाकर, माला पहनाकर, फ़ोल्डर, पेन,महासभा की डायरी,आय कार्ड भेट देकर स्वागत किया गया। ईस अधिवेशन में दिल्ली से जितेंद्र जैन नरपतीया, पुनीत जैन , निशांत जैन, राजेश जैन, विजय जैन ,नवीन जैन, विनीत जैन, विकास जैन, मुंबई से जितेंद्र कीकावत, संजीव झवेरी, नंदकुमार काले, दिलीप कासलीवाल, विवेक अजमेरा, करण दोषी ,जयेश काला, पुना से सौ मिना ठोले ,वंदना बाकलीवाल, सौ सीमा गंगवाल, वर्धमान कासलीवाल डोंबिवली, औरंगाबाद से डी बी कासलीवाल, संजय कासलीवाल, प्रमोद कासलीवाल, मदनलाल कासलीवाल, प्रमोद जैन, भरत ठोले, संजय पापड़ी वाल, राजमल कासलीवाल, आदि की विशेष उपस्थिति रही यह सारा कार्यक्रम आदीनाथ चैनल से प्रसारीत किया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here